गुलाम नबी आजाद ने दिया पार्टी से इस्तीफ़ा, जाते जाते राहुल गांधी को सुना गये खरी खोटी

0
19

अभी के दिनों में कांग्रेस पार्टी एक बहुत ही अधिक बड़े व मुश्किल दौर से होकर के गुजर रही है. जिस तरह के हालात और स्थितियां इन दिनों में बन चुकी है उसे देखकर के इतना तो पता लग ही रहा है कि किस तरह से भीतर में कलह काफी अधिक बढ़ चुकी है और इसके कारण से पार्टी के कई बड़े नेता व पदाधिकारी भी अपने अपने पद छोड़कर के चले जा रहे है. अब इस लिस्ट में एक और बड़ा नाम जुड़ चुका है जिसकी उम्मीद कुछ समय पहले कोई कर ही नही सकता था.

कांग्रेस की सदस्यता समेत सभी पदों से गुलाम नबी आजाद का इस्तीफ़ा, किया गांधी परिवार का जिक्र
गुलाम नबी आजाद ने अपने कांग्रेस के तमाम पदों समेत मूल सदस्यता से भी इस्तीफ़ा दे दिया है और जाते हुए एक लंबा पत्र भी लिखा है जिसमें वो कहते है कि आप जानती है सोनिया जी कि मेरे आपके परिवार से इंदिरा गान्धी जी से और दिवंगत पति राजीव गांधी जी से कितने घनिष्ठ व गहरे सम्बन्ध रहे है.

पत्र में आगे लीडरशिप पर सवाल करते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मुझे लगता है कांग्रेस ने अब कमिटी को चलाने की क्षमता ही खो दी है. पहले पार्टी को भारत जोड़ो यात्रा से पहले एक बार कांग्रेस जोड़ो अभियान चलाने की जरूरत है. गुलाम नबी आजाद ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी ने बिलकुल भी ठीक से परफॉर्म नही किया है और हालात हम लोग अच्छे से देख ही रहे है. इस पत्र में उन्होंने राहुल गांधी को खूब खरी खोटी सुनाई है.

लगातार अपमान व अनुसना किये जाने से खफा थे आजाद
पिछले कुछ वर्षो में देखे तो लगातार आजाद का डिमोशन हो रहा था. उनके पद कम कर दिए गये और अभी हाल ही में तो वो राज्य के पार्टी चीफ के लायक भी नही समझे गये. महज प्रचार समिति के अध्यक्ष बनाकर के छोड़ दिया गया और फिर वो पार्टी में बगावती नेताओं में शामिल होकर के गान्धी परिवार के खिलाफ आवाज उठाने लगे.

इतना सब कुछ होने के बाद में भी जब वो कुछ भी बदलाव होते हुए नही देख पाए तो फिर उन्होंने इस्तीफ़ा देते हुए पत्र में मन की सारी भडास एक साथ में ही निकाल ली और इसके परिणाम आगे चलकर के क्या कुछ आयेंगे ये तो वक्त ही बता पायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here