नीतीश कुमार पर लगे हिन्दू धर्म का अपमान करने के आरोप, श्री विष्णुपद मंदिर के पंडित भडके

0
26

नीतीश कुमार वर्तमान में बिहार के मुख्यमंत्री है और उनके पास में असीमित शक्तिया है जिसके चलते हुए वो कही भी आ जा सकते है और पूरा प्रबंधन उनके हिसाब से ही होता है. मगर हाल फिलहाल में जो कुछ भी हुआ है उसके कारण से उनके करीब के लोग काफी अधिक नाराज हो गये है और देखते ही देखते ये बात न सिर्फ खबरो में आ गयी बल्कि सोशल मीडिया के ऊपर भी चर्चा का पात्र बन गयी है. यहाँ पर मामला विष्णु पद मंदिर से जुडा हुआ है जहाँ पर गैर हिन्दुओ के प्रवेश को लेकर रोक लगी हुई है.

नीतीश के साथ इस्माइल मंसूरी मंदिर के अन्दर गये, गैर हिन्दुओ के प्रवेश पर लगी है रोक
दरअसल अभी हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार पूजा अर्चना करने के इरादे से बिहार के बहुत ही आधिक प्रसिद्द श्री विष्णुपद मंदिर में पहुंचे थे. उनके साथ में और भी कई बड़े बड़े लोग भी मौजूद थे जिन्होंने उनके साथ में पूजा अर्चना आदि की लेकिन जो भी विवाद खड़ा हुआ है वो बिहार के ही सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री के कारण से हुआ है.

बिहार के केबिनेट मंत्री मोहम्मद इस्माइल मंसूरी भी मंदिर के काफी भीतर तक चले गये और वो वही पर ही काफी समय तक मौजूद रहे जबकि इस क्षेत्र को लेकर के नियम बनाया गया है कि यहाँ पर गैर हिन्दुओ का भीतर तक प्रवेश वर्जित है. उन्हें केवल एक निर्धारित स्थान पर ही आने दिया जाता है और ये अपने आप में धार्मिक नियम है जो बने हुए है.

मंदिर प्रबंधन ने जतायी नाराजगी, बोले खेद प्रकट करे
इस मंदिर की प्रबंधन कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष ने पूरे मामले पर काफी अधिक नाराजगी जताई है और कहा कि हम लोगो को तो इस बारे में जानकारी नही थी इसलिए उनको रोक नही सके लेकिन जो भी स्थानीय लोग थे उन्हें तो मालूम था तो उनको रोकना चाहिए था. ये जो भी कुछ घटित हुआ है उसके कारण से संत समाज के ह्रदय को बहुत ही अधिक ठेस पहुंची है और ऐसा नही होना चाहिए था.

आज तक कई मंत्री कई वीआईपी लोग आये लेकिन कभी किसी मुस्लिम तो क्या किसी इसाई ने भी अन्दर प्रवेश नही किया है. जिन लोगो से भी ये गलती हुई है उन लोगो को खेद प्रकट करना चाहिए. अभी तक सरकार की तरफ से इस पर कोई भी प्रतिक्रिया देखने को नही आयी है जिसको लेकर के जाहिर तौर पर लोग और अधिक गुस्सा हो रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here