देश में घुसकर अन्दर आ चुके रोहिंग्याओ के लिए मोदी सरकार का बड़ा फैसला

0
55

अभी देश में गलत तरीके से गुजरे हुए बाहरी देशो के नागरिक अपने आप में एक बड़ी समस्या के रूप में निकलकर के सामने आये है. इसके कारण से देश में डेमोग्राफी चेंज के रिस्क की बाते निकलकर के सामने आ रही है और लोग सरकारों के स्टैंड को लेकर के भी काफी अधिक सशंकित नजर आ रहे है. सबसे अधिक समस्या आ रही है रोहिंग्या मुस्लिमो से जुडी हुई जो काफी भारी संख्या में भारत में प्रवेश कर चुके है और अब मानवाधिकार नियमो के चलते इनके साथ में क्या किया जाए ये सरकार के लिए काफी बड़ी दुविधा बन चुकी है.

रोहिंग्या शरणारथियो को लेकर बड़ा निर्णय, दिल्ली में मिलेंगे ईडब्लूएस के फ्लैट और बाकी सुविधाएं
देश के मिनिस्टर फॉर हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स हरदीप सिंह पुरी ने अपने ट्विटर के माध्यम से सरकार के एक बड़े निर्णय के बारे में जानकारी दी है जिसमे उन्होंने बताया कि अब देश में जो रोहिंग्या शरणार्थी आ चुके है फिलहाल के लिए उन्हें वापिस नही भेजा जायेगा बल्कि उन्हें सरकार और ज्यादा सुविधाएं मुहैया करवाने जा रही है.

सरकार द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार दिल्ली में रहने वाले 1100 रोहिंग्या शरणार्थी को 250 ईडब्लूएस के फ्लैट्स में शिफ्ट किया जायेगा. वहां पर इनके लिए खाने पीने से लेकर टेलीविज़न और पुलिस द्वारा सुरक्षा की व्यवस्था भी की जायेगी. इसे सरकार द्वारा मानवाधिकारो की दिशा में एक बड़ा कदम बताया जा रहा है लेकिन कई लोग इससे नाखुश भी दिख रहे है.

सरकार के स्टैंड पर संशय
हालांकि गृह मंत्री अमित शाह कह चुके है कि भारत कभी भी रोहिंग्या शरणार्थी को नागरिक के तौर पर स्वीकार नही करेगा, मगर अभी जिस तरह से ये लगातार बस रहे है तो क्या ये जीवन भर इस तरह से सरकार द्वारा उपलब्ध टेम्परेरी सुविधाओं और एक विशेष दायरे में जीवन भर के लिए गुजर बसर करने वाले है? ये भी अपने आप में एक बड़ा प्रश्न है.

मानवाधिकार संगठनों ने इस कदम का स्वागत किया है मगर भाजपा के ही काफी बड़े वोटर बेस जो देश में रिसोर्स की कमी को लेकर के चिंता व्यक्त करते रहते है वो इस पर रोष जताते हुए दिखाई दे सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here