बड़ी उम्मीदों से दिया था नीतीश ने भाजपा को धोखा, मगर अखिलेश ने सारा खेल बिगाड़ दिया

0
3412

बिहार की राजनीति में हुई बहुत ही बड़ी उठापटक ने यहाँ का सारा खेल बदलकर के रख दिया है. जिस तरह से अचानक से भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया और अब राजद के साथ मिलकर के नीतीश बिहार पर शासन कर रहे है, उसके पीछे बहुत से लोग उनकी एक बड़ी मंशा की तरफ इशारा कर रहे है कि वो अब पीएम पद मटेरियल बनना चाह रहे है. इसको लेकर के लोगो के अपने अपने कयास रहे है और कांग्रेस तो इस पर डिसकस भी करने लगी है कि क्या नीतीश वाकई में पीएम उम्मीदवार हो भी सकते है.

सपा चाहती है, अखिलेश बने पीएम पद के उम्मीदवार
अभी जब नीतीश कुमार के बार बार प्रधानमंत्री बनने को लेकर के चर्चाएँ उठी है तो फिर सपा की तरफ से भी इस मुद्दे के ऊपर एक बड़ी बात कही गयी है. समाजवादी पार्टी की तरफ से एक वरिष्ठ नेता ने अपने बयान में कहा कि अभी पीएम पद के लिए अखिलेश यादव थोड़े प्रीमेचोर है लेकिन अगर हमारे सांसदों की संख्या अधिक आ जाती है तो फिर हमारे यादव जी में कोई कमी भी नही है.

प्रधानमंत्री पद के लिए अखिलेश यादव एक परफेक्ट केंडीडेट है और अगर हमारे ज्यादा 70 के करीब सांसद जीत जाते है तो फिर हम लोगो का हक बनता है और अखिलेश यादव को ही प्रधानमंत्री पद के लिए पीएम पद का उम्मीदवार माना जा सकता है.

ममता और शरद पवार भी बन रहे चुनौती
नीतीश के आगे सिर्फ अकेले अखिलेश यादव ही चुनौती नही है बल्कि ममता  बनर्जी और शरद पवार भी ऐसे नेता है जिनकी प्रधानमंत्री पद पर जाने की आकांक्षा किसी से भी छुपी हुई नही है और कही न कही ये बात पूरी तरह से स्पष्ट हो चुकी है कि यही लोग आगे चलकर के नीतीश कुमार के लिए रास्ते का काँटा बनने जा रहे है.

मगर अभी जिस तरह से बयान देकर के समाजवादी पार्टी ने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी तरफ फसे भी पीएम पद की उम्मीदवारी में कोई भी कमी नही है तो फिर ऐसे में आगे चलकर के विपक्ष में जो फूट पड़ने वाली है और नीतीश कुमार के लिए राजनीतिक दिक्कते आने जा रही है उसका अंदाजा लगाया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here