सरकार में आते ही बढ़ गयी तेजस्वी यादव की हिम्मत, डायरेक्ट दी मोदी को चेतावनी

0
2331

अभी जिस प्रकार के डेवलपमेंट हमें बिहार की राजनीति में देखने को मिले है वो अपने आप में पूरी तरह से अप्रत्याशित है. कभी जो नीतीश कुमार भाजपा के साथी हुआ करते थे उन्होने अपना पाला बदल लिया है और फिलहाल के लिए वो राजद के साथ में मिलकर के सरकार चला रहे है और इसी के साथ में उनकी पिछले कई वर्षो से एक तरह की आर पार की लड़ाई चल रही थी. खैर राजद सत्ता में आ गयी है तो फिर पॉवर तो तेजस्वी यादव की भी बढ़ ही गयी है और वो उनके बयानों में दिखने भी लगी है.

मेरे घर में आकर ऑफिस खोल ले ईडी, डरता हूँ क्या
अब जब भाजपा को अपदस्थ करके बिहार में सत्ता के केंद्र में तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार बैठ गये है तो जाहिर सी बात है कि ये बाते भी बाहर आएगी कि हो सकता है केंद्र में बैठी भाजपा अब ईडी और सीबीआई जैसी केन्द्रीय जांच एजेंसियों को इनके पीछे लगा दे. जब इस तरह की बाते सामने आने लग गयी तो फिर इस पर जिस तरह के जवाब तेजस्वी ने दिए है वो भी सुनने लायक है.

उन्होंने कहा ‘जब मेरी मूछ तक नही आयी थी तभी मुझ पर पहला केस हो गया था. मैं इनसे डरता हूँ क्या? सीबीआई, ईडी और इनकम टैक्स वाले आकर के मेरे घर में ही अपना ऑफिस खोल ले. इसके बाद में भी अगर इनको शान्ति नही मिलेगी तो फिर मैं क्या ही कर सकता हूँ?’ जिस तरह की बेबाकी अभी वो दिखा पा रहे है विपक्ष में रहते नही दिखा पा रहे थे.

नीतीश के साथ लम्बे समय की प्लानिंग
जिस तरह से आपस में मंच साझा किये जा रहे है, मित्रता निभाई जा रही है और एक दुसरे की दोस्ती यारी की कसमे खाई जा रही है उससे मालूम चलता है कि पहले का वही लालू नीतीश का दौर बिहार में वापिस लौट आया है जब दोनों ही पक्ष मिलकर के सत्ता पर शासन करना चाहते है और राष्ट्रीय पार्टीयो को राज्य से बाहर करना चाहते है.

खैर अब भाजपा इस पर किस तरह से रियेक्ट करती है और किस हद तक इसके फायदे या फिर नुकसान देखने में आते है ये तो आने वाले वक्त में हर पार्टी के लिए धीरे धीरे करके साफ़ और स्पष्ट हो ही जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here