मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने के बाद नीतीश कुमार ने दिया बड़ा बयान

0
1060

अभी फिलहाल में बिहार की राजनीति में एक बहुत ही बड़ा बदलाव देखने को मिला है और ये अपने आप में बहुत ही बड़े स्तर पर बदला गया है और सभी पार्टियों का राजनीतिक भविष्य तक बदल गया है लेकिन इसमें भी अगर कुछ एक चीज वही उसी रूप में बनी रही और वो है नीतीश कुमार का मुख्यमंत्री पद. अब कई लोग इसके कारण से नीतीश कुमार को एक शातिर नेता मानते है तो कई उन्हें भरोसेमंद नही मानते पर एक सत्य ये भी है कि वो लम्बे समय तक सीएम तो रह ही चुके है.

सभी ने कहा हमें एनडीए छोड़ देना चाहिये
कल शाम को करीबन 4 बजे नीतीश कुमार राज्यपाल फागू चौहान को इस्तीफ़ा देने के लिए पहुंचे थे जहाँ पर वो अपना एनडीए समार्थन से मिला हुआ सीएम पद त्यागकर के वापिस लौटकर के बाहर आये. इस दौरान उन्होंने एक बड़ा बयान भी दिया वो भाजपा को छोड़ने और राजद के साथ में जाने को लेकर के अपनी तरफ से बयान देते हुए भी नजर आये.

नीतीश कुमार ने कहा ‘अभी हमारे सारे सांसद और विधायको ने आम सहमती बना ली है कि हम लोगो को एनडीए को छोड़ देना चाहिए और भाजपा के साथ में काम करना भी बेहद मुश्किल हो रहा था. ऐसे में हमने सारे विधायको, पार्षदों और सांसदों से बातचीत की जिसमे साफ़ हुआ कि हमें एनडीए को छोड़ देना है और आखिरकार हमने इस्तीफ़ा दे दिया है.’

चलेंगे तेजस्वी के साथ, बनेगी नयी सरकार
अब नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी के साथ में सरकार में तो रहे नही तो फिर ऐसे में उनके स्थान पर आरजेडी स्थान लेगी और जल्द ही वो सत्ता में आने वाले है. ये लगभग तय माना जा रहा है कि इस सरकार में भी नीतीश बाबू खुद ही फिर से मुख्यमंत्री पद की पुनः शपथ लेंगे और तेजस्वी यादव इस बार उपमुख्यमंत्री पद पर आकर के सत्ता में हिस्सेदारी निभायेंगे.

अभी तक भाजपा की तरफ से इस पर कोई बड़ी या फिर सख्त प्रतिक्रिया देखने में नही आयी है लेकिन उम्मीद कर सकते है कि जल्द ही देखने में तो आ ही जाएगी और चीजे काफी अधिक बदली हुई सी दिखाई देने लगेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here