भाजपा से दुबारा होगा धोखा? नीतीश ने दिखाने शुरू कर दिये अपने तेवर

0
1449

बिहार की राजनीति काफी लम्बे समय से शांत ही थी लेकिन काफी लम्बे समय से चीजे बहुत समय तक एक सी रहती नही है और ये बात तो हम भी बहुत ही अधिक अच्छे से जानते है. अभी की बात अगर की जाये तो फिर जिस तरह की खबरे और रिपोर्ट्स सामने आ रही है उसके अनुसार बहुत ही बड़ा खेल होते हुए नजर आ रहा है और इसके परिणाम कुछ इस कदर नजर आ रहे है जिसके कारण से बहुत से लोगो को बिहार में वर्तमान सरकार का भविष्य ही अन्धकार में जाते हुए नजर आने लगा है.

राजद से बढ़ रही नजदीकियां, नयी सरकार बनाने की कोशिश के कयास
अभी हाल ही में आरसीपी सिंह ने इस्तीफा दिया है और उसके बाद से जदयू में आपसी तकरारे आने की बाते नजर आ रही है. इसी बीच जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने सीधे जेपी नड्डा पर ही हमला बोलते हुए ये कह दिया कि वो जो बयान देते है उनको बोलने से पहले कुछ सोचना चाहिए, आखिर बिहार में भी सरकार एनडीए की ही चल रही है.

दरअसल नड्डा ने क्षेत्रीय दलों के खत्म होने की बात कही थी. बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है, नीतीश कुमार ने पिछली चार बड़ी केन्द्रीय लेवल की बैठके भी छोड़ दी है और इससे पता चलता है कि उनके और भाजपा के बीच में कुछ भी ठीक नही चल रहा है और जिस तरह का इतिहास रहा है उससे अंदाजा तो लगाया ही जा सकता है कि नीतीश कभी भी किसी भी पक्ष की तरफ जा सकते है.

राजद ने दिया इशारा, बोले अस्थिरता नही आने देंगे
जब भाजपा और जेडीयू के बीच तनातनी देखने को मिली तो उधर आरजेडी ने भी बयान जारी करते हुए साफ़ तौर पर कह दिया कि हम बिहार की सबसे बड़ी पार्टी है और राज्य में अस्थिरता नही आने देंगे.

इससे पता चलता है कि अन्दर ही अन्दर काफी कुछ पक रहा है और आने वाले वक्त में बहुत कुछ निर्णायक फैसले देखने को आ सकते है और इसके कारण से काफी कुछ है या फिर जो भी है लेकिन नीतीश अभी सत्ता में पकड़ बनाये हुए है और ये दिखाई भी दे रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here