योगी आदित्यनाथ की बात पर बिदक गये मुख्तार अब्बास नकवी, कह दी ऐसी बात

0
2022

भाजपा अपने आप में अलग अलग समूहों से मिलकर के बनी पार्टी है और जाहिर तौर पर इसके कारण से यहाँ पर अलग अलग विचार आदि भी एक ही मंच पर नजर आ ही जाते है. कही न कही इसके चलते आपस में एक दुसरे के मुंह पर न सही लेकिन बातो ही बातो में विरोध जता ही दिया जाता है और ऐसा हम एक नही बल्कि कई बार देख चुके है. अगर अभी की बात करे तो ये नजारा हमें योगी आदित्यनाथ और मुख्तार अब्बास नकवी दोनों के ही बीच में देखने को मिला है.

जनसँख्या में असंतुलन को लेकर दिया था बयान
विश्व जनसँख्या दिवस के अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ बढ़ रही लोगो की संख्या के ऊपर तो बोले ही बोले लेकिन इनके बीच में जो असंतुलन बढ़ रहा है उसको लेकर के भी उन्होंने चिंता जाहिर की. सीएम ने कहा कि जब हम लोग बात करते है परिवार नियोजन की तो हमें ध्यान रखना चाहिए कि इसका कार्यक्रम अच्छे से आगे बढे लेकिन साथ ही साथ में जनसँख्या में असंतुलन की स्थिति भी न हो जाए. यहाँ पर वो अलग अलग समूहो के बीच सांख्यिक असंतुलन की बात करते दिखे.

नकवी ने कहा, धर्म से जोड़ना जायज नही
अब हाल ही में मोदी केबिनेट के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय से इस्तीफ़ा देकर के सुर्खियों में आने वाले नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने एक बयान दिया है जिसे योगी आदित्यनाथ को जवाब के रूप में देखा जा रहा है जहाँ पर वो इस मामले को धर्म से न जोड़ने की बात कह रहे है.

अपने बयान में पूर्व केबिनेट मंत्री ने कहा कि बेहताशा जनसँख्या का बढना किसी मजहब की नही बल्कि पूरे मुल्क की मुसीबत है और इसलिए इसी किसी भी जाति या फिर धर्म से जोड़ना सही नही है. उनका ये बयान योगी जी के बयान के कुछ समय बाद में देखने को मिला है जिसके कारण इन्हें जोडकर के देखा जा रहा है.

कही न कही पिछले कुछ दिनों में मुख्तार अब्बास नकवी को लेकर के चर्चे चल रहे है कि उनके कुछ एक मन मुटाव चल रहे है लेकिन ये किस हद तक बढ़ चुके है इसे लेकर के अभी तक फिलहाल कोई भी स्पष्टता नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here