छोटे मुस्लिम देश भारत को दे रहे चेतावनियाँ, तो संजय राउत ने दिया ऐसा बयान

0
6727

अभी के इन दिनों में नुपुर शर्मा का मामला अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जा चुका है और हर कोई इसको लेकर के काफी अधिक संवेदनशील हो गया है क्योंकि इसके कारण से कई मुस्लिम देश भी भारत के विरोध में आ खड़े हुए है. इसमें क़तर और सऊदी बड़े व प्रमुख नाम है. खैर इन सबके कारण से भारत को कई जगहों पर सफाई भी देनी पड़ी है तो कई जगहों पर भारत ओआईसी जैसे संगठनों को मुंहतोड़ जवाब भी दे रहा है, पर इन सबके बीच में विरोधी पार्टियाँ अपनी राजनीती चमकाते दिखाई दे रही है.

छोटे छोटे देश भारत को लेक्चर दे रहे है
संजय राउत ने अभी जो कुछ भी हुआ है उस पर न सिर्फ मोदी सरकार पर प्रश्न चिन्ह खड़े किये है बल्कि हालातो पर नाखुशी भी जाहिर की है. राउत ने कहा कि ये छोटे छोटे देश अब भारत को सिखा रहे है. आज ये सब देश मिलकर के अगर हमारे खिलाफ लोबिंग करते है तो इससे हमारे व्यापार पर असर पड़ सकता है, वहां के सुपरमार्किट में भारत के प्रोडक्ट रोक रहे है और ये अच्छी खबर नही है.

आज ये मामला इंटरनेशनल लेवल पर चला गया है और खाड़ी देश भारतीय राजदूतो को समन करके अपनी नाराजगी बता रहे है. भाजपा के नेताओं ने पैगम्बर मोहम्मद साहब के ऊपर जो बयान दिया है ऐसी हिम्मत तो कोई कर ही नही सकता है. आज बस इसी वजह से भाजपा को इन सबसे माफ़ी मांगनी पड़ रही है. इससे पहले मनीष सिसोदिया ने भी इसी तरह का बयान दिया था.

विपक्षियो को मिल रहा मौक़ा
अभी जिस तरह से खाड़ी देशो ने अपनी तरफ से भारत पर डिप्लोमेटिक दबाव बनाया है उस पर विपक्ष की पार्टियों को अच्छा खासा आलोचना करने का मौका मिला है. कांग्रेस नेता जहाँ नुपुर को हटाने के पीछे खाड़ी देशो का दबाव खुलकर के बता रहे है वही ओवैसी भी यही राग अलाप रहे है.

अब ऐसे में भाजपा आगे चलकर के क्या और किस तरह का स्टैंड लेती है ये भी अपने आप में देखने वाली बात होगी. अभी के लिए जो स्थिति है वो तो स्पष्ट हो ही चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here