मुस्लिम धर्म पर कमेन्ट कर परेशानी में आयी थी नुपुर शर्मा, अब पार्टी ने भी साथ छोड़ा

0
1228

राजनीति में कब कौन किसके साथ रहे और किसका साथ कब छूट जाये कुछ भी कहा नही जा सकता है. अभी हाल ही की बात करे तो इन दिनों में भाजपा की जानी मानी नेता रह चुकी नुपुर शर्मा की दिक्कते दिन ब दिन बढती ही चली जा रही है और इसके कारण से उन्हें काफी अधिक दिक्कतो का सामना भी करना पड़ रहा है. चलिए पहले तो पूरा  मामला जान लेते है कि आखिर असल में हुआ क्या है और भाजपा ने किस तरह से चलती राह में नुपुर का साथ छोड़ दिया है.

ज्ञानवापी पर की थी नुपुर ने टिप्पणी
अगर आपको मालूम न हो तो बता दे अभी हाल ही में भाजपा की तत्कालीन प्रवक्ता नुपुर शर्मा एक डिबेट शो में हिस्सा लेने के लिए पहुंची थी. वहां पर उन्होंने ये तक कह दिया कि अगर हिन्दू धर्म का कोई मजाक बनाते है आस्था का तो फिर वो भी बना ही सकती है. इसके बाद में नुपुर ने कुछ एक मान्यताओं का जिक्र किया जो इस्लाम से जुडी हुई थी और इस वजह से इस समुदाय के लोगो ने कई केस दर्ज करवाए और सोशल मीडिया पर भी चेतावनी दी.

भाजपा ने बयान से दूरी बनाई, नुपुर को पार्टी से निलंबित किया
अब इस तरह से बढ़ रहे विवाद को देखते हुए नुपुर शर्मा के बयान से पार्टी ने खुद से ही दूरी बना ली और कहा कि हम सभी धर्मो का सम्मान करते है. इसके बाद में नुपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया गया जो अपने आप में बड़ा झटका है.

ऐसे में इस मुश्किल घडी में नुपुर को पार्टी से जो सहायता और सपोर्ट मिलने की उम्मीद थी वो भी बुझते हुए नजर आ रही है क्योंकि जिस तरह से नुपुर को एक अच्छे खासे समर्थन की उम्मीद थी वो तो उन्हें मिल नही पाया है और ये अपने आप में काफी अधिक बुरा उनके नजरिये से हो सकता है क्योंकि भाजपा से उन्हें इस वक्त में शायद ही ऐसी उम्मीद न रही हो.

खैर नुपुर के समर्थक इस फैसले से जाहिर तौर पर पार्टी से नाराज हो सकते है लेकिन बीजेपी की भी अपनी नीतियां है और उससे समझौता करके वो कही न कही लम्बे समय तक चीजे बदलाव के साथ में देख नही सकती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here