पुतिन ने अब बड़ी गलती कर दी, भारत के साथ खराब हो सकते है रूस के सम्बन्ध

0
1950

भारत और रूस दोनों ही काफी लम्बे समय के आपसी मित्र रहे है और कही न कही दोनों ने मिलकर के कई बुरे वक्त का सामना भी किया. मगर आखिर में कही हुई वही बात सत्य हो जाती है कि राजनीति में कोई भी किसी का स्थायी मित्र नही रहता है. खैर अभी की बात करे तो हाल ही में रूस ने कुछ ऐसे कदम उठाये है जिससे भविष्य में भारत और रशिया की मित्रता पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ने वाला है और इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण कही न कही चीन होने वाला है.

पीएम मोदी कर रहे थे जापान में क्वाड समिट में चीन की घेराबंदी, पुतिन ने जिनपिंग संग मिलकर भेजे अपने जेट
अभी हाल ही में जापान में एक बड़े क्वाड समिट का आयोजन हुआ जिसमे चारो ही देश जापान, भारत, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया शामिल हुए. ये समूह चीन को काबू में करने के लिए बनाया गया है और हाल ही के इस समिट में भारत समेत सभी देशो ने कई पैक्ट भी साईन किये और कई नीतियां भी बनाई जिससे चीन को इंडो पेसिफिक क्षेत्र में आगे बढ़ने से रोका जा सके.

अब इसका जवाब देने के लिए चीन ने अपने फाइटर जेट जापान के नजदीक भेज दिए जहाँ पर क्वाड समिट हो रहा है और अचरज की बात ये रही कि रूस ने भी अपने जेट चीन के साथ में उसी समिट वाले देश के नजदीक वार्निंग के तौर पर भेजे जहाँ पर भारत भी मौजूद था यानी यहाँ पर रूस ने भारत की उपस्थिति को दरकिनार करते हुए चीन को सहयोग देना जरूरी समझा.

भारत रूस के संबंधो पर नकारात्मक असर
हालांकि भारत ने क्वाड की जॉइंट स्टेटमेंट में रूस को हमेशा से ही विरोधी देश के तौर पर पहचाने जाने की लिस्ट से बाहर रखा और न ही निंदा होने दी लेकिन इसके बावजूद रूस का इस तरह से कदम दर्शा रहा है कि वो चीन के इतना अधिक करीब जा चुका है कि भारत से कई ज्यादा मायने अब वही रखने लगा है.

ऐसे में विश्व भर के जियोपोलिटिकल एक्सपर्ट भारत को एक तरह से सवाल करते हुए देख रहे है कि जब भविष्य में भारत को चीन से भिड़ने के लिए क्वाड और रूस में से किसी को चुनना पड़ेगा तो फिर ऐसे में बड़ी दिक्कत होने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here