मदरसों को लेकर योगी सरकार ने एक और बड़ा निर्णय लिया

0
1328

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब से दूसरी बार सत्ता में आये है तब से ही वो अपने पिछली सरकार में छूट चुके कार्यो को न सिर्फ आगे बढ़ा रहे है बल्कि उनके कार्यो में उनका राष्ट्र के प्रति कार्य करने का एजेंडा और कही न कही एक प्रशासनिक झलक भी नजर आती है. उनके कई निर्णयो से अक्सर लोग नाराज भी हो जाते है लेकिन अक्सर इसे कडवी दवाई कहकर के सहन करने की सलाह भी लोग खुद ही दे देते है. अभी हाल ही में मदरसों को लेकर भी एक ऐसा ही निर्णय सामने आया है.

नए मदरसों को कोई आर्थिक मदद नही, योगी सरकार का फैसला
योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अभी हाल ही में एक बड़ा निर्णय लिया है जिसके अनुसार अब यूपी में जो भी नए मदरसे खुलेंगे उन्हें किसी तरह का कोई आर्थिक अनुदान फ़िलहाल के लिए नही दिया जायेगा. आपको मालूम हो तो वर्तमान में उत्तर प्रदेश की सरकार 558 मदरसों को आरती मदद देती है जिसके कारण से ये चल पा रहे है और अपनी शिक्षा को जारी रख पा रहे है.

मगर एक ट्रेंड देखा गया है कि मदरसे अक्सर खुलते ही जा रहे है और इनकी संख्या बढ़ने से सरकारी खजाने पर भी बोझ बढ़ रहा है. इसके अलावा और भी कई कारण है जिनको मद्देनजर रखते हुए इस तरह का निर्णय लिया गया है. हालांकि अभी इस फैसले का प्रभाव उस आर्थिक मदद पर ही पड़ेगा जो पहले से दी जा रही है.

हाल ही में राष्ट्रगान को लेकर भी लिया गया था फैसला
आपको मालूम हो तो अभी कुछ दिन पहले यूपी में ही मदरसा बोर्ड ने सभी मदरसों में राष्ट्र गान को अनिवार्य कर दिया गया जिसको लेकर के कई लोग विरोध में भी उतरे थे लेकिन ये अधिक लंबा चल नही पाया और आखिरकार निर्णय लागू हो गया.

कही न कही इस तरह के निर्णय बताते है कि सरकार अपने दखल के माध्यम से समाज में एक समरसता लाने की कोशिश कर रही है. ये सिर्फ मुस्लिम नही बल्कि हर धर्म को लेकर के हो रहा है और ये सकारात्मक रूप से देखा जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here