इस मुद्दे पर एक हुए शिवसेना और भाजपा, संजय राउत बोले बिलकुल अमित शाह को करना चाहिए

0
1578

अभी वर्तमान में भाजपा और शिवसेना के बीच में दूरियां किस हद तक बढ़ चुकी है ये बात किसी की भी नजर से छुपी हुई नही है. लोग कही न कही इसके कारण से लम्बे समय से सवाल भी खड़े करते रहे है कि कभी एक दुसरे के साथ एक थाली में भोजन करने वाले नेता एक दुसरे के खिलाफ खड़े हो गये है और हर मुद्दे पर एक दुसरे की खिलाफत करते हुए नजर आ जाते है. मगर हाल ही में एक चीज है जिसको लेकर के दोनों ही पार्टियों के नेता कही न कही एक ही पन्ने पर दिखाई दिए है.

हिंदी को देश भर में लागू करवाने के पक्ष में संजय राउत, अमित शाह से भी की अपील
अभी इन दिनों में हिंदी को देश के सभी राज्यों में बड़े और वृहद् स्तर पर फैलाने के ऊपर बात चल रही है और इस पर कई क्षेत्रीय पार्टियां और नेता विरोध में उतर आये है. उसी पर टिप्पणी करते हुए शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि मैं हिंदी भाषा का सम्मान करता हूँ और जब भी संभव होता है तब संसद में भी हिंदी में ही बोलता हूँ.

राउत आगे कहते है कि आज पूरा देश हिंदी भाषा को ही समझता है और इसलिए मैं गृह मंत्री शाह से भी अपील करता हूँ कि वो ये चेलेंज ले और एक देश, एक विधान और एक भाषा बनाये और इसके ऊपर काम करे. संजय राउत के इस बयान से हिंदी भाषा के ऊपर शिवसेना के स्टैंड की स्पष्टता मिलती है.

तमिलनाडु के नेता के बयान के बाद से हुआ है बवाल
अभी हाल ही में तमिलनाडु के शिक्षामंत्री पोनमुडी ने एक बयान दिया था जिसमे उन्होंने कहा कि इंग्लिश भाषा हिंदी से काफी ज्यादा अहमियत रखती है जो लोग हिंदी बोलते है वो तो छोटे मोटे काम करते है. ये लोग तो पानी पुरी बेचने का का काम करते है.

इस तरह के अपमानित करने वाले बयान को सुनने के बाद में कई बड़े राष्ट्रीय स्तर के नेताओं ने उनके प्रति अपना विरोध जताया और ऐसे नेता को शिक्षा मंत्री जैसे पद से हटाने की मांग भी की जाने लगी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here