लाउडस्पीकरो के इस्तेमाल पर सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान

0
2848

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने आप में एक ऐसे नेता के तौर पर जाने जाते है जो कभी भी किसी क्षेत्र में कोई निर्णय लेना हो या फिर कोई कार्य करवाना हो तो उसमे हिचकते हुए नजर नही आते है चाहे उसके परिणाम कितने ही सकारात्मक या फिर नकारात्मक ही क्यों न देखने को मिल जाये? अभी हाल ही में ऐसा ही कुछ हुआ है जब यूपी में कई धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतारे गये और इसके बाद में खुद योगी आदित्यनाथ ने इस पर विशेष रूप से एक टिप्पणी दी है जो कुछ मायनों में सही भी नजर आती है.

आस्था व्यक्तिगत विषय, दूसरो को परेशान न करे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में इस मुद्दे पर खुलकर के बोला है जिसमे वो कहते है कि आस्था एक निजी विषय है और सरकार इसमें किसी तरह का कोई भी हस्तक्षेप नही करेगी मगर इसका सार्वजनिक रूप से ऐसे प्रदर्शन किया जाना और लोगो को इस तरह से परेशान करना अपने आप में स्वीकार करने लायक बिलकुल भी नही है. योगी जी ने पुलिस वालों से भी संवेदनशीलता बरतने के लिए कहा है.

आपको मालूम हो तो यूपी में योगी सरकार के आदेश के बाद में कई गलत तरीके से लगाये गये लाउडस्पीकर धार्मिक स्थलों से उतार लिए गये और हजारो की संख्या में इनकी आवाज को कम करवाया गया जो कि ज्यादा बाहर तक न जाए और लोगो को कही इसके कारण से दिक्कत न हो. यही चीजे यूपी को अब एक शांत राज्य के रूप में प्रदर्शित कर रही है.

महाराष्ट्र से शुरू हुआ मामला, देश भर में फैला
आपको मालूम हो तो ये पूरा मामला महाराष्ट्र राज्य में शुरू हुआ जहाँ पर मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने इस मुद्दे को उठाया और महराष्ट्र सरकार से लाउडस्पीकर बंद करवाने की मांग की. ये बात लगातार तूल पकड़ते चली गयी और देखते ही देखते मामला देश भर में फ़ैल गया.

अब अलग अलग राज्य सरकारे इस पूरे मसले को अपने हिसाब से हल कर रही है और ध्वनि प्रदूषण को जिस हद तक कण्ट्रोल में किया जा सकता है कर रहे है और ये अपने आप में बहुत ही अधिक आवश्यक भी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here