जहांगीरपुरी: मंदिर पर ना चले बुलडोजर, इसके लिये स्थानीय लोगो और मंदिर प्रशासन ने उठाया बड़ा कदम

0
5247

दिल्ली के जहांगीरपुरी क्षेत्र में अभी हाल ही में कई घटनाएं चर्चा का विषय बनी है. आपको मालूम तो होगा ही कि हनुमान जन्मोत्सव पर इस क्षेत्र में क्या कुछ देखने को मिला था? कही न कही इन घटनाओं ने लोगो को थोडा चिंतित भी किया क्योंकि लोगो ने अब दूसरो पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए और फिर ऐसे में प्रतिक्रियाएं भी आने लगी. इसी बीच प्रशासन का ध्यान इस पूरे क्षेत्र में गलत तरीके से हो रहे निर्माण पर भी गया जो अपने आप में एक बहुत ही बड़ी समस्या इस पूरे क्षेत्र की बना हुआ था.

एमसीडी ने गिराये कई ढाँचे, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कार्य बीच में रोका
20 अप्रेल को सुबह ही एमसीडी के अधिकारी पुलिस के जवानो और कई बुलडोजर के साथ में जहांगीरपुरी के क्षेत्र में पहुँच गये. वहां पर कई ऐसे निर्माण कार्य जो अतिक्रमण के रूप में नजर आये उन्हें गिराया गया और इसमें मस्जिद के साथ लगा दरवाजा और कई दुकाने भी शामिल थी जिनको नुकसान देखने में आया है. इसी बीच स्टे आर्डर आ गया और कार्यवाही रोकनी पड़ी.

मंदिर से खुद ही हटा लिया अतिक्रमण, अब कार्यवाही की जरूरत नही
जब मंदिर प्रशासन को इस बात की जानकारी हुई कि प्रशासन अतिक्रमण हटा रहा है और जैसे ही सुप्रीम कोर्ट का स्टे आर्डर हटेगा तो एमसीडी कार्यवाही करेगा तो मंदिर प्रशासन से बेहतरी इसी में समझी कि खुद से ही जो भी चीजे गलत तरीके से लगायी गयी है उन्हें हटा लिया जाए और ऐसा कल शाम के वक्त देखने में भी आया.

मंदिर के प्रशासन और स्थानीय निवासियों ने कुछ एक मजदूर बुलवाए जिन्होंने कई सारी जालियां और मंदिर के बाहर की तरफ निकले हुए ढाँचे हटाए जो अतिक्रमण के दायरे में आते थे और अब क्योंकि इस भवन का कोई भी हिस्सा गलत तरीके से सार्वजनिक क्षेत्र को बाधित करते हुए नही दिखाई देता है तो फिर ऐसे में मंदिर पर कार्यवाही होने के कोई भी चांस नही बचे है.

हालांकि अभी तो मामला कोर्ट में है और अगर एमसीडी की कार्यवाही पर लगा हुआ स्टे आर्डर हट जाता है तो फिर आगे चलकर के ये मामला और भी ज्यादा तूल पकड़ने वाला है और कही न कही चीजे और ज्यादा बिगड़ भी सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here