जहांगीरपुरी में बड़ा एक्शन लेने जा रही थी, मगर सुप्रीम कोर्ट ने रोक दिया

0
2364

अभी के इन दिनों में दिल्ली का जहांगीरपुरी इलाका खबरों में बना हुआ है. आपको मालूम ही होगा कि बीते हुए कुछ दिनों में किस तरह से हनुमान जन्मोत्सव पर वहाँ के क्षेत्र से पत्थर आदि डालने जैसी घटनाएं देखने में आयी थी और कही न कही इसके बाद से जो भी लोग गलत कर रहे है उनके खिलाफ एक्शन की मांग भी उठी. इसी कड़ी में एमसीडी की नजर कुछ एक ऐसी चीजो के ऊपर गयी जो सही में गलत थी और उसे हटाने के लिये तैयारी भी कर ली गयी थी.

एमसीडी ने तैयार किये थे बुलडोजर, 400 जवान भी तैयार
जहांगीरपुरी के क्षेत्र में सडको पर फैले हुए अतिक्रमण को हटाने के लिए एमसीडी ने पुलिस से 400 जवान मांगे थे जो उन्हें मिल भी गये थे इसके अलावा कई सारे बुलडोजर भी मंगा लिए गये थे जिसकी मदद से जो भी इस क्षेत्र में अतिक्रमण की हुई बिल्डिंग आदि थी उन सभी को गिराया जाना था ताकि सार्वजनिक सम्पति को सुरक्षित किया जा सके.

सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन, दिया यथास्थिति बनाये रखने का आदेश
इस पूरे मामले पर सुप्रीम कोर्ट में रीट पिटीशन दायर की गयी और जो भी ये कार्यवाही हो रही है उसे गलत बताते हुए अपनी तरफ से दलीले भी रखी गयी. कोर्ट ने अभी के लिए उनकी पिटीशन को स्वीकार करते हुए एमसीडी से जो भी स्थिति है उसे यथावत बनाये रखने के लिए आदेश दे दिया है यानी अब जो भी कार्यवाही होने वाली थी वो रूक जायेगी.

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद में उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर इकबाल सिंह ने भी कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने जो भी निर्णय दिया है उसका पालन किया जाएगा और उसी के अनुसार ही कार्यवाही की जायेगी. यानी अभी के लिए जो भी एक्शन एमसीडी में बैठी हुई भाजपा ले रही थी वो अभी के लिए नही ले पाएगी.

हालांकि अभी के लिये ये रूका है. आगे चलकर के एमसीडी को सुप्रीम कोर्ट में ये प्रदर्शित करना होगा कि ये वाकई में गलत भावना से किया गया अतिक्रमण है जिसे जहांगीरपुरी के क्षेत्र से हम हटाना चाह रहे है और इसके बाद में शायद अनुमति मिल जायेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here