अब एटीएम की दुनिया में नयी क्रान्ति लाने जा रही मोदी सरकार

0
1427

भारत आज के समय में डिजिटल बैंकिंग के क्षेत्र में दुनिया का नेतृत्व करने वाले देशो में शुमार किया जा चुका है और जिस तरह से पिछले कुछ वर्षो में हमने अपने देश में विकास की गाथा को सुना है वो अपने आप में अतुल्य ही कहा जा सकता है. खैर अगर हम लोग अभी की बात करे तो फिलहाल भारत सरकार की कम्पनी एनपीसीआई और आरबीआई अपनी टेक्नोलॉजी से वो कार्य करने जा रही है जो अभी तक यूरोप और अमेरिका में भी देखने में नही आया है. ये अपने आप में एक क्रांति की तरह होगा.

अब यूपीआई से चलेगा एटीएम, फोन की मदद से निकलेगा पैसा
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत सरकार की कम्पनी नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ इंडिया की टेक्नोलॉजी यूपीआई को अब जल्द ही एटीएम मशीनों के साथ में भी इन्टीग्रेट करने जा रही है जिससे आने वाले वक्त में आपके लिए एटीएम कार्ड की जरूरत ही खत्म हो जायेगी क्योंकि आप सारा का सारा पैसा यूपीआई की मदद से निकाल सकेंगे और अभी पेमेंट व मनी ट्रांसफर के लिए तो पहले से ही ये इस्तेमाल हो ही रहा है.

इसके लिए एक जो स्टैण्डर्ड तरीका माना गया है उसके अनुसार आपको अपने फोन की यूपीआई एप्प में अमाउंट डालकर के एटीएम मशीन पर लगा हुआ डिजिटल क्यूआर कोड स्कैन करना रहेगा और इसके बाद में आप डायरेक्ट पैसा निकाल सकेंगे. ये कार्ड की तुलना में अधिक आसान और बेहतर माना जा रहा है और डिजिटल को बढ़ावा देने वाला तो है ही.

कई कम्पनियों के लिए होगी परेशानी
अभी यूपीआई का विस्तार अगर इस हद तक हो जाता है तो फिर कार्ड इशू करने वाली कई अंतर्राष्ट्रीय कम्पनियों के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है क्योंकि आज इनका हर वर्ष का अरबो डॉलर का व्यापार होता है और यूपीआई के आने के बाद से ये दिन ब दिन सिकुड़ता चला जा रहा है, फिर एटीएम मशीनों पर भी यूपीआई चलने लगा तो कार्ड काफी हद तक गैर जरुरी बन जायेंगे.

हालाँकि अभी भी कैशलेश निकासी की सुविधा कई बैंक अपने स्तर पर दे रहे है लेकिन वो बहुत ही लिमिटेड स्तर पर और सिर्फ अपने एटीएम में ही हो पाती है. आरबीआई जब ऐसा कुछ करेगा तो फिर ये पूरे राष्ट्रीय स्तर पर हर जगह होने लग जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here