चीन से धोखा खाकर भारत से तुरंत मदद चाहता है श्रीलंका, क्या मोदी करेंगे सहायता

0
979

आज विश्व भर में जब एक बर्बाद हो चुके देश का उदाहरण दिया जाता है तो उस लिस्ट में एक देश का नाम हर जगह पर आने लगा है और वो है श्रीलंका. पिछले कुछ वर्षो में श्रीलंका की हालत इतनी खराब हो गयी है कि अब उसके पास में न तो अपने लिए जरूरत का सामान आयात करने का पैसा बचा है और न ही बकाया लोन चुकाने के लिए कुछ भी मौजूद है. ऐसे में ये देश काफी खस्ता हालत में है और भारत की मदद चाह रहा है, क्योंकि अब यही एक उम्मीद भी है.

श्रीलंका चाहता है, भारत बने उसका वित्तीय सहायता हेतु गारन्टर
अभी वर्तमान में श्रीलंका की सरकार ने भारत की सरकार को एक प्रार्थना भेजी है जिसके तहत वो चाह रहे है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार से लोन के रूप में पैसा उठाने के लिए वित्तीय सहायता हेतु भारत उनकी मदद करे. अगर आज की तारीख में श्रीलंका की सरकार जो अपने लोन चुकाने में नाकाम हो चुकी है वो अमेरिका या किसी भी देश के पास लोन लेने जाती है तो जाहिर तौर पर अधिक संभावना है कि उसे मना कर दिया जाएगा.

लेकिन अगर भारत जैसा देश श्रीलंका का गारन्टर बन जाता है और विश्व के विभिन्न देशो को ये आश्वासन देता है कि श्रीलंका को आप जो पैसा दे रहे है वो सुरक्षित है और आपको वो टाइम से वापिस मिल भी जायेगा तो जाहिर तौर पर श्रीलंका को काफी आसानी से वित्तीय मदद मिल सकती है. आपको मालूम हो तो चीन ने इस मुश्किल वक्त में श्रीलंका से मुह फेर लिया है और अब भारत ही उसकी एक मात्र उम्मीद है.

भारत के लिए भी मदद करना जरूरी
आज के समय में श्रीलंका की मदद  करना भारत के लिए काफी अधिक जरूरी भी है क्योंकि अगर ऐसा नही किया जाता है तो फिर संभव है कि चीन श्रीलंका को मदद के बदले में उसके नए पोर्ट या फिर कुछ और चीजे हासिल करे जो भारत के लिए सामरिक दृष्टि से अच्छा  न हो.

इस कारण से भारतीय महासागार में अपनी मजबूत स्थिति को बनाये रखने के लिए श्रीलंका की कुछ अजीब मांगो पर भी कई बार भारत को राजी होना पड़ता है, मगर इस बार मामला काफी अधिक बड़ा है और ये हम देख व समझ भी रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here