जर्मनी भारत से नाराज है, इसके पीछे की वजह भी जान लीजिये

0
3128

इन दिनों में भारत बहुत ही अधिक तेजी के साथ में विश्व के विभिन्न देशो के साथ में अपने बेहतर सम्बन्ध स्थापित कर रहा है और एक बड़ी सॉफ्ट पॉवर के रूप में उभर रहा है. मगर क्योंकि दुनिया में सैकड़ो देश है तो हर किसी को खुश रख पाना अपने आप में संभव होता नही है और हाल ही में जर्मनी के साथ में भी ऐसा ही कुछ हो रहा है. हालांकि इसका भारत जर्मनी के ट्रेड आदि पर कोई असर नही पड़ने वाला है लेकिन फिर भी आपस में मनमुटाव नजर आ सकता है.

इंटरनेशनल रिपोर्ट्स में दावा, रूस से नजदीकी है वजह
अभी हाल ही में कई अंतर्राष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात को लगातार मेंशन किया गया है कि जर्मनी की सरकार भारत से काफी हद तक नाराज है क्योंकि उनके प्रभाव में आकर के मोदी सरकार ने रूस से न दूरी बनाई है बल्कि भारत लगातार उनसे तेल भी खरीद रहा है. ऐसे में एक मित्र देश जिससे वो कुछ करवाने की उम्मीद कर रहे थे वो हो नही पा रहा है जिसके कारण जर्मनी की सरकार खिन्न है.

यही नही जब एस जयशंकर से एक पब्लिक मीट में रूस के तेल खरीदने को लेकर सवाल किया गया तो फिर उन्होंने उस पर जवाब देते हुए ये तक कह दिया था कि जितना पूरे माह में भारत अपनी एनर्जी खरीद रूस से कर रहा होगा उतना तो यूरोप एक दोपहर में ही यूरोप अपने यहाँ पर मंगवा लेता है, इसके जरिये उन्होंने असल मुद्दे पर सबको मोड़ दिया.

जर्मनी हो सकता है भारत को समिट में न बुलाये
इस बार के जी7 समिट जर्मनी में होने वाले है और हर वर्ष होने वाले समिट में भारत व ऑस्ट्रेलिया को स्पेशल मेहमान के तौर पर बुलाया जाता रहा है लेकिन इस बार हो सकता है अपने साथ में अलाइन न रहने के चलते हुए जर्मनी इस बार ऐसा कदम उठा सकता है ऐसा अंदरूनी रिपोर्ट बताती है.

हालांकि जो कुछ भी हुआ है उसे देखते हुए एक बात तो कही जा सकती है कि भारत की डिप्लोमेसी इन दिनों में काफी अधिक सशक्त हो चुकी है और इस कारण से हजारो मील दूर बैठे देश भी उससे काफी अधिक प्रभावित महसूस करते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here