रामनवमी पर हर शहर में निकले लाखो करोडो की संख्या में जुलूस, नाराज ओवैसी ने कही ये बात

0
5088

अभी हाल ही में रामनवमी का पावर गुजरा है और इसको लेकर के लोग काफी अधिक उत्साहित नजर आये. आम तौर पर लोग जुलूस आदमी में अधिक संख्या में पहले कभी इतने नजर नही आते थे लेकिन समय के साथ में चीजे बदल रही है. अभी इस गत रामनवमी के अवसर पर देश के अधिकतम शहरो में बड़ी संख्या में जुलूस निकाले गये जिसमे लाखो करोडो की संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए और भक्तिगान करते हुए पूरे शहर में शोभायात्राएं आदि भी निकाली गयी. इस पर सब खुश थे लेकिन ओवैसी जी थोड़े दुखी नजर आये है.

पुलिस की शह पर गलत काम करने के आरोप
रामनवमी के अवसर पर जब जुलूस निकले तो फिर इसमें इसे पसंद न करने वाले लोगो ने इसमें अडचने भी उत्पन्न की और इसमें आपस में विरोध प्रतिरोध हुए और कुछ छोटी मोटी घटनाएं देखने को मिली है. इसके बाद में एएमआईएम के प्रमुख ओवैसी ने अपनी तरफ से इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हिंदुत्व की बात करने वाली भीड़ ने गुजरात, राजस्थान, यूपी, कर्नाटक, बिहार और गोवा में पुलिस की शह पर हिसा की है.

ओवैसी ने आरोप लगाया कि रामनवमी के जुलूस का प्रयोग गलत भाषण देने के लिए भी किया गया है. ओवैसी ने ये भी कहा कि धर्मगुरुओ ने मुस्लिमो के विरोध में बोला और उनके खिलाफ गलत कार्य करने के लिए लोगो को प्रेरित किया.अपने ट्वीट में वो कही न कही राम भगवान् की शोभायात्रा में शामिल हुए लोगो के ऊपर गुस्सा निकालते हुए नजर आये.

मनोज तिवारी ने दिया जवाब
जब भाजपा के लोगो से इस पर जवाब मांगे गये तो मनोज तिवारी ने सही शब्दों में स्पष्टता के साथ में बोलते हुए कहा कि ओवैसी का लेवल ही वो नही है कि वो बता सके हम कैसे रामनवमी मनाये? अगर किसी को राम का नाम लेने से दिक्कत हो रही है तो समझ जाइए उसकी मानसिकता कैसी हो रखी है.

कुल मिलाकर के अभी जो कुछ भी हुआ है उसके ऊपर जाहिर तौर पर आपस में काफी अधिक कहासुनी देखने को मिलने वाली है. हालांकि अभी दूसरी पार्टियाँ इस पर कुछ भी टिप्पणी करने से जरुर बच रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here