अचानक अमेरिकी राष्ट्रपति बायडन ने कहा ‘मुझे मोदी जी से फेस टू फेस बात करनी है’, बड़ी ख़ास है वजह

0
2062

एक बात हम बेहतर तरीके से जानते है कि जब भी कोई समिट या बातचीत पहले से तय होती है कि ये वर्ल्ड लीडर किसी से मिलने जा रहा है या बातचीत करने जा रहा है तो फिर उसके मायने काफी हद तक स्पष्ट होते है और वो उतनी अधिक ख़ास व दिलचस्प रहती भी नही है लेकिन दुनिया के बड़े नेताओं के बीच में जो अचानक से मीटिंग तय होती है वो काफी अधिक ख़ास होती है क्योंकि ये आपके कई मौजूदा लक्ष्यों को प्रभावित करने का कार्य भी करती है ऐसा ही कुछ अभी हाल ही में हुआ है.

बायडन करेंगे मोदी से वर्चुअल मुलाकात, दोनों देशो को एक पेज पर लाने की कोशिश
अभी आपको मालूम न हो तो बता दे अमेरिका की तरफ से ही भारत को ये प्रस्ताव आया था कि अमेरिकी राष्ट्रपति भारत के प्रधानमंत्री मोदी से बातचीत करना चाहते है और इस पर तुरंत बातचीत को शेड्यूल भी कर दिया गया है जो आज यानी 11 अप्रेल को होने जा रही है. कही न कही इस मुलाक़ात के अपने बहुत ही बेहतरीन व ख़ास मायने है.

भारत को अमेरिका के साथ एक पक्ष में करने का प्रयास
आज की तारीख में भारत यूक्रेन जैसे मुद्दों पर काफी हद तक तटस्थ रहते हुए नजर आ रहा है और इसे हम लोग अनुभव भी कर पा रहे है जबकि अमेरिका ऐसा नही चाहता है. आने वाले वक्त में भारत अमेरिका के मित्र मुल्को के साथ में रहे और अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर साथ दे इस बात को लेकर ये मीटिंग काफी महत्त्वपूर्ण रहने वाली है.

आने वाले वक्त में ब्रिक्स से भारत को दूर करके क्वाड के तरफ ले जाना, स्विफ्ट पेमेंट सिस्टम पर ही भारत को बनाये रखना और भारत के आयल इम्पोर्ट्स व डिफेन्स इम्पोर्ट्स को पशिचमी देशो की तरफ बढ़ाना अमेरिका के मुख्य लक्ष्यों में से एक है और ऐसा करने के लिए आने वाले वक्त में बायडन मोदी से और भी काफी सारी मुलाकाते करने वाले है इतना तो तय है.

हालांकि आखिर में इसके परिणाम किस हद तक निकलते है और क्या भारत सरकार इसमें अमेरिका की तरफ मित्रवत व्यवहार दर्शाती है? ये अपने आप में देखने और समझने वाली बात ही होने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here