भारत सरकार के सामने बड़ी आफत, सुलझाया नही तो आम आदमी हो जायेगा परेशान

0
1307

अभी वर्तमान में विश्व में कई चीजे ऐसी चल रही है जो अपने आप में चिंताजनक है और इसके कारण से कही न कही विश्व में अस्थिरता बढ़ते हुए नजर आती है. मगर इनको काबू में भी रखा जा सकता है अगर सरकारे काफी अधिक बेहतरी के साथ में आने वाली दिक्कतों का सामना करे. अभी महंगाई काफी अधिक बढ़ रही है और इसमें बात पेट्रोल व डीजल से हटकर के खाने के तेल पर भी पहुँच गयी है, जिसके कारण से आने वाले वक्त में खाध्य सामान महंगे हो सकते है.

इंडोनेशिया में पाम आयल की कीमते आसमान पर, भारत है सबसे बड़ा आयातक
आज के दिन में इंडोनेशिया की सरकार ने डीजल में पाम आयल ब्लेंडिंग को बढ़ावा देने का कार्य शुरू किया है जिसके कारण से वहां पर पाम आयल के दाम उड़ रहे है और इससे भारत के लिए पाम आयल आयात करना महंगा हो जाएगा. आपको मालूम हो तो खाने पीने के पैकेज समान से लेकर साबुन तेल और तमाम चीजो में पाम आयल का इस्तेमाल होता है और इसके महंगे होने से हर तरफ महंगाई बढ़ सकती है.

सनफ्लावर और सोयाबीन के तेल की कीमते भी बढ़ी
अभी भारत पाम आयल के बादमे दो तेलों का उपयोग सबसे अधिक करता है जिसमे दुसरे नम्बर पर है सनफ्लावर आयल और तीसरे नम्बर पर आता है सोयाबीन का तेल. सूरजमुखी का तेल जहाँ रूस व यूक्रेन से आता है जहाँ से इन दिनों में सप्लाई बाधित हो रखी है. वही दूसरी तरफ दक्षिणी अमेरिकी देश जो सोयाबीन के सबसे बड़े उत्पादक माने जाते है वहां पर इस वर्ष सूखा पड़ा है.

इस कारण से जो तीनो ही तरह के सबसे अधि उपयोग में आने वाले तेल है वो महंगे होते जा रहे है जिसका सीधे तौर पर भारत के रिटेल बाजार पर पड़ेगा और चीजे पहले की तुलना में अधिक महँगी होते हुए नजर आ सकती है जिसके कारण से जाहिर तौर पर आम आदमी की जेब पर काफी अधिक असर पड़ने वाला है.

इसमें समस्या एक बड़ी ये भी है कि सरकार का इसके ऊपर बस नही चलता है क्योंकि जो सामान बाहर से आयात ही महँगी कीमत पर हो रहा है उससे घरेलू चीजो के दाम बढना काफी हद तक तय ही मान सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here