एस जयशंकर ने बताया, क्यों भारत नही कर रहा अमेरिका या रूस दोनों में से किसी को भी सपोर्ट

0
1048

भारत अभी के लिए बहुत ही अधिक नाजुक दौर से होकर के गुजर रहा है और ये बात हम बहुत ही अधिक अच्छे से जानते है. अगर अभी की बात करे तो भारत के ऊपर लगातार दो पक्षों पर से दबाव बन रहा है एक तरफ जहाँ पर अमेरिका और उसके साथी मित्र देश है और दूसरी तरफ की बात करे तो रूस जो कि भारत का पुराना मित्र है वो भी बना हुआ है. हर कोई चाहता है वैश्विक राजनीति के इस जाल में भारत जैसा बड़ा व समृद्ध देश उनकी तरफ से खड़ा हो मगर ऐसा हो नही पा रहा है.

सदन में खड़े होकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिया स्पष्टीकरण
अभी हाल ही में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर साहब ने देश के सबसे ऊँचे प्लेटफॉर्म पर यानी सदन में खड़े होकर के अपनी तरफ से बयान जारी किया जिसमे उन्होंने बताया कि आखिर भारत रूस व यूक्रेन मुद्दे में किसी के भी साथ होने की बजाय साइड होकर खड़ा क्यों है? आखिर किसी को सपोर्ट क्यों नही कर रहा है.

एस जयशंकर कहते है कि हमारी विदेश नीति सिर्फ हमारे राष्ट्रीय हित और लोगो के हिसाब से चलती है, जो विचारों पर आधारित है. आगे उन्होंने अपनी तरफ से कुछ सिद्धांत दिए जिसमे उनका कहना था कि हमारा स्टैंड हमेशा से एक रहा है और हम सिर्फ शान्ति के पक्ष में है, एक बार अगर शान्ति व डिप्लोमेसी के रास्ते से आगे बढ़ गये तो फिर वहाँ पर वापिस लौटने का कोई रास्ता नही है.

हम पर सवाल न उठाये जाये
एस जयशंकर ने आगे ये भी स्पष्ट किया कि हमारे प्रधानमंत्री जी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति से भी बात की है और रूस के राष्ट्रपति से भी बात की है, हम शान्ति चाहते है. यहाँ पर उन्होंने भारत पर सवाल न उठाने के लिए कहा है और ये अपने आप में तर्कसंगत बात भी नजर आती है.

कही न कही भारत के लिए ये जरूरी भी है कि इस मामले में अपनी तरफ से स्टैंड को जैसा है वैसा ही बनाये रखे ताकि ग्लोबल आर्डर में किसी तरह के बदलाव की स्थिति में भी चीजे कही हाथ से न निकल जाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here