कश्मीर फाइल्स को लेकर फारूक अब्दुल्ला और महबूबा ने दी प्रतिक्रिया, कह दी बड़ी बात

0
1483

अभी हाल ही में कश्मीर के पंडितो को लेकर के एक बहुत ही बड़ी हिट फिल्म कश्मीर फाइल्स आयी है और इस फिल्म ने लोगो के दिलो को छू लिया. जिस तरह से नब्बे के दशक की घटना को सटीक तरीके से परदे पर दर्शाया गया था उसके बाद में जाहिर तौर पर उन लोगो का असली चेहरा सामने आने लगा है जो इसके जिम्मेदार थे. ऐसे में इस फिल्म को गलत व खराब बताने वालो की संख्या भी काफी  अधिक बढ़ चुकी है जिनमे जम्मू कश्मीर के दो बड़े चेहरे आते है.

महबूबा का आरोप, पीएम मोदी और भाजपा सिर्फ फिल्म का प्रमोशन कर रहे है
इस फिल्म को लेकर जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और कई आरोपों की धनी महबूबा मुफ़्ती ने जमकर के आलोचना की है. वो कहती है कि जम्मू कश्मीर में सभी लोगो को गलत सहना पड़ा था चाहे वो हिन्दू हो, सरदार हो मगर जिस तरह से भाजपा और पीएम मोदी फिल्म का प्रमोशन कर रहे है उतना काम आठ वर्षो में कश्मीरी पंडितो के लिए किया होता तो आज उनकी स्थिति कुछ और होती.

आगे महबूबा कहती है मेने ये मूवी नही देखी. मेने छत्तीसिंहपुरा काण्ड देखा है. सेना ने तीन दिनों के बाद में सात मुस्लिम लडको को उठाया और उन्हें समाप्त कर दिया तो क्या हम ये कह सकते है कि पूरी सेना खराब है? कही न कही महबूबा ने यहाँ पर फिल्म व भाजपा के ऊपर सलेक्टिव होने के आरोप लगाए और अपना दामन साफ़ रखने की कोशिश की.

फारूक ने बताया फिल्म को प्रोपगेंडा
तत्कालीन जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री और कई आरोपों से घिरे हुए अजीब से नेता फारूक अब्दुल्ला ने इस पूरी फिल्म को ही एक तरह का प्रोपगेंडा बता दिया है. वो कहते है कि वो वक्त बड़ा ही बुरा वक्त था और उस वक्त से लेकर अब तक मेरा मन कश्मीरी पंडितो के लिए रोता है. कश्मीर तब ही पूरा होगा जब सब लौटकर वापिस आयेंगे.

आगे वो कहते है ये फिल्म जोड़ने नही बल्कि तोड़ने का काम कर रही है. मैं पीएम मोदी से रिक्वेस्ट करूंगा कि वो ऐसी चीजे न करे जो जर्मनी में हुई थी. इस तरह से फारूक ने भी अपना पल्ला झाड लेने का पूरा प्रयास किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here