कांग्रेस ने उठायी मांग, बंगाल में लोग असुरक्षित राष्ट्रपति लागू करे अनुच्छेद 355

0
2712

अभी जहाँ पर देश भर के कई राज्य है जो काफी अधिक तेजी के साथ में विकास की गति में आगे बढ़ते चले जा रहे है और चीजे फायदे वाली बनने लगी है वही दूसरी तरफ बंगाल में लोगो के लिए मूलभूत सुरक्षा सुविधाए भी नही आ पा रही है और ये अपने आप में काफी अधिक चिंता वाली बात है. पहले तो सिर्फ भाजपा ही थी जो टीएमसी और वहां की सरकार पर आरोप लगाती थी लेकिन अब कांग्रेस पार्टी ने भी उसी तरह का राग अलापना शुरू कर दिया है.

अधीर रंजन करेंगे राष्ट्रपति से मुलाक़ात, करेंगे बंगाल में अनुच्छेद 355 लागू करने की मांग
अभी हाल ही में कांग्रेस पार्टी की तरफ से ही ये जानकारी दी गयी है कि उनके नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी जो कि बंगाल से ही आते है वो जल्द ही राष्ट्रपति महोदय रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे और उनसे अनुरोध करेंगे कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति अपनी शक्ति का इस्तेमाल करते हुए अनुच्छेद 355 लागू कर दे जिससे सत्ता उनके हाथो से चले और नागरिको की सुरक्षा की जा सके.

कांग्रेस पार्टी का आरोप है कि पश्चिम बंगाल में क़ानून व्यवस्था पूरी तरह से खराब हो चुकी है और बंगाल में लोग खुदको काफी अधिक असुरक्षित महसूस करने लगे है जिसके चलते ऐसा करना जरूरी हो गया है. जब किसी राज्य में ये अनुच्छेद लागू हो जाता है तो संघ इस पर कार्य करता है कि वहां पर नागरिको व उनके अधिकारो की आंतरिक अस्थिरता व बाह्य लोगो से भी सुरक्षा की जाये. कुल मिलाकर पॉवर केंद्र के हाथ में चली जाती है.

भाजपा लम्बे समय से करती आ रही मांग
भारतीय जनता पार्टी तो सीधे तौर पर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन की मांग करते हुए आ रही है ताकि कही न कही प्रदेश में शान्ति व्यवस्था को कायम किया जा सके लेकिन हर बार संघ की व्यवस्था के ऊपर भरोसा रखते हुए केंद्र बार बार ममता सरकार को मौक़ा दिए जा रहा है.

आज इतने मौके दिए जाने के बाद में स्थिति ऐसी हो गयी है कि कांग्रेस तक को भी पश्चिम बंगाल की चिंता होने लग गयी है. खैर इस पर भाजपा और कांग्रेस कही न कही एक मत होते हुए कुछ हद तक तो नजर आ ही रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here