अखिलेश खेल रहे है डबल गेम, हारने के बाद मायावती ने लगाया सपा पर बड़ा आरोप

0
1623

अभी उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार बनकर के दुबारा से लौटकर के आ गये है और उनके हाथ में अगले पांच वर्षो तक प्रदेश की सत्ता रहने वाली है. ऐसे में भाजपा तो काफी अधिक खुश है लेकिन विपक्ष वालों में काफी अधिक उहापोह देखने को मिल रही है और ऐसा होना लाजमी भी है. अगर अभी की बात करे तो मायावती फिलहाल के दिनों में भाजपा से ज्यादा तो अखिलेश यादव से नाराज दिखाई दे रही है और उनके हाल ही के बयानों में ये चीज हमारे सामने झलकते हुए नजर भी आ रही है.

मायावती का आरोप, अपने काम के लिए एक सदस्य भाजपा में भेज दिया
अभी हाल ही में मायावती ने एक तरह से अखिलेश यादव पर डबल गेम खेलने का आरोप लगाया है जिसमे उन्होंने अपर्णा यादव को बिना नाम लिए सपा का ही एजेंट बताने की कोशिश की है. वो कहती है कि भाजपा से बसपा नही बल्कि सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव खुलकर के मिले है. उन्होंने तो पिछले शपथ ग्रहण में अखिलेश को भाजपा से आशीर्वाद भी दिलवाया था.

बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है. आगे मायावती ने ये तक कह दिया कि उन्होंने अपने काम के लिए अपना एक सदस्य भाजपा में भेज दिया है. यहाँ पर वो अपर्णा यादव का नाम नही ले रही है क्योंकि इससे उनको दिक्कत आ सकती है लेकिन समझ सब पा रहे है कि वो किस तरह से आरोप लगाने की कोशिश कर रही है.

कभी अखिलेश को माफ़ नही करेंगे
मायावती कहती है कि मायावती कहती है आंबेडकरवादी लोग कभी भी समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को माफ़ नही करने वाले है. उन्होने तो अपनी सरकार में इनके नाम से बनी योजनाओं के नाम तक बदल दिए थे जो बड़ा ही निंदा के योग्य और शर्म से भरा हुआ है.

मायावती के बयानो पर अगर नजर डाली जाए तो वो आम तौर पर भाजपा पर किसी तरह का कमेन्ट करने से बचते हुए ही नजर आती है और उनके टारगेट पर अक्सर अखिलेश यादव नजर आते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here