मोदी से नाराज हुआ ब्रिटेन, बोला हम आप लोगो से निराश है क्योंकि

0
1774

भारत आज के समय में विश्व में कई धडो के बीच में खींचतान के मध्य में फंसते हुए नजर आ रहा है और समझ में आ नही रहा है कि हमें किस तरफ जाना चाहिये? कही न कही ये बात हम लोग भी बखूबी जानते ही है और अगर अभी की बात करते है तो फिलहाल में भारत पर अमेरिकी और रूसी पक्ष दोनों ही अपनी अपनी तरफ आने के लिए ख़ास दबाव बना रहे है और इसे सरकार काफी अधिक अच्छे तरीके से अनुभव भी कर पा रही है.

ब्रिटेन बोला, भारत के रूख से हुए निराश
अभी हाल ही में ब्रिटेन की व्यापार मंत्री से सवाल किया गया था कि भारत के साथ में आप लोग फ्री ट्रेड अग्रीमेंट साईन करने वाले है लेकिन भारत रूस से व्यापार बनाये हुए है और उनसे तेल खरीद रहा है क्या ऐसे में फिर भी आप आगे बढ़ेंगे? इस पर ब्रिटेन की तरफ से कोई भी एफटीए रोकने को लेकर तो कोई बात नही की गयी लेकिन ये जरुर कहा गया कि भारत हमारा अच्छा मित्र देश है और उसके रूख को लेकर हम बेहद ही निराश हुए है.

कही न कही इन तरीको के जरिये भारत के ऊपर एक मोरल प्रेशर बनाने की कोशिश की गयी है. हाल ही में वाइट हाउस की प्रवक्ता ने भी भारत से कहा था कि जब इतिहास लिखा जाएगा तो उस वक्त भारत को गलत पक्ष में दिखाया जाएगा इसलिए अभी आपको अपना पक्ष सोच समझकर के चुनना चाहिए.

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने भी दिया स्पष्टीकरण
जब भारत के विदेश मंत्रालय की तरफ से इस पूरे मामले पर सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा कि अगर ऐसा है तो पहले यूरोप के ऊपर फोकस होना चाहिए क्योंकि हमसे अधिक तो वो अपनी नेचुरल गेस व आयल रूस से खरीद रहे है. जब वो सब कर रहे है तो फिर हमें क्यों रोका जा रहा है?

कही न कही भारत यहाँ पर एक न्यूट्रल देश बनने की कोशिश में लगा हुआ है क्योंकि अभी भारत किसी भी पक्ष में जाना अफोर्ड कर नही पा रहा है आखिर भारत एक देवेलोपिंग इकॉनमी है जिसमे हल्के फुल्के नुकसान भी लोगो के जीवन पर भारी भरकम असर डाल देते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here