पुतिन ने मांगी मोदी से मदद, नही किया सपोर्ट तो ढह जायेगा रूस

0
3577

अभी के समय में एक देश काफी अधिक संकट से होकर के गुजर रहा है और वो देश है रूस. कही न कही जिस तरह के आर्थिक प्रतिबन्ध रूस के ऊपर लगे है और कई अंतर्राष्ट्रीय कम्पनियों ने भी इस देश से किनारा कर लिया है उसके बाद से ही रूस की अर्थव्यवस्था हिलने लगी है और ऐसे में पुतिन को जाहिर तौर पर दुनिया भर से मदद मांगनी पड़ सकती है और इस केस में अब उन्होंने सबसे पहले भारत को याद किया है और काफी विशेष मदद मांगी है.

हमारे एनर्जी सेक्टर में निवेश करे भारत, बोला रूस
अभी हाल ही में रूस की तरफ से एक अधिकारिक बयान में भारत से निवेश की मांग की गयी है और कहा गया है कि भारत अपनी कम्पनियों के माध्यम से रूस के आयल एंड एनर्जी के सेक्टर में निवेश करे और उसके जरिये भारत भी कुछ कमाई कर लेगा और रूस को तो आवश्यकता है ही, ऐसे में रूस चाह रहा है कि भारत की ओएनजीसी जैसी कम्पनियां इनके देश में बढ़ चढ़कर के निवेश करे.

दरअसल अभी रूस के ऊपर आर्थिक प्रतिबन्ध लग चुके है और ऐसे में उसे पैसे की काफी अधिक आवश्यकता पड़ रही है और उसके बिना वो कुछ भी कर नही पा रहा है. तो इस परिस्थिति में कही न कही उसे ऐसे देश की आवश्यकता है जिसके जरिये वो व्यापार कर सके और भारत को वो इसमें एक महत्त्वपूर्ण साथी के रूप में देख रहा है.

मोदी सरकार के लिए निर्णय लेना कठिन
भारत के लिए आज के समय में रूस की मदद करना एक बहुत ही बड़ा और कठिन फैसला है. इसके पीछे का कारण है पश्चिमी देशो के द्वारा लगाये गए प्रतिबन्ध और अगर भारत की सरकार उनको नकारते हुए कोई मदद करने का फैसला करती है तो फिर इससे अमेरिका व यूरोपियन युनियन के साथ में मित्रता व व्यापार प्रभावित हो सकते है जो किसी भी एंगल से ठीक नही है.

ऐसे में मोदी सरकार भी इस मामले में तुरंत कोई भी फैसला लेने से बच रही है क्योंकि यहाँ पर मामला सीधे तौर पर देश की अर्थव्यवस्था के साथ में जुडा हुआ है और ऐसे फैसले लेने में समय तो लगता ही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here