रूस यूक्रेन विवाद: प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका जापान और ऑस्ट्रेलिया से कह दी बड़ी बात

0
9105

अभी विश्व भर में किस तरह के हालात बन चुके है ये बात किसी से भी छुपी हुई नजर नही आती है. फिलहाल के लिए कही न कही जो भी हालात है यानी रूस के एक्शन के बाद से विश्व में काफी अधिक अस्थिरता का दौर नजर आ रहा है और इस बीच में बी भारत किस पक्ष की तरफ जाता है ये बहुत ही अधिक महत्त्वपूर्ण भी है. ऐसे में एक बड़ी खबर ये आ रही है कि भारत ने क्वाड की मीटिंग में हिस्सा लिया है और काफी कुछ यहाँ पर ख़ास बाते भी बोल दी है.

कूटनीति के जरिये मामला सुलझाये रूस, क्वाड में बोले पीएम मोदी
अभी हाल ही में क्वाड के समूह की बैठक हुई जिसमे अमेरिकी राष्ट्रपति बायडन, जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मोरिसन भी हिस्सा बने थे. इस बैठक के दौरान रूस के ऊपर चर्चा हुई और भारत ने भी अपनी तरफ से स्पष्ट किया कि लड़ाई हो ऐसा हम भी नही चाहते है. भारत चाहता है कि ये दोनों देश टेबल पर आये और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत करके मामला सुलझाए.

अब रूस भारत की बात को किस हद तक मानता है ये अपने आप में देखने वाली बात होगी मगर एक बात कही न कही साफ़ है कि यहाँ पर मोदी सरकार ने कही न कही अमेरिका और एलाई देशो को भी नाराज करने से परहेज किया है और लड़ाई छोड़कर शान्ति वार्ता करने की सलाह दे रहा है.

साथ ही दोहराया इंडो पेसिफिक से न छूट जाये
ध्यान प्रधानमंत्री मोदी ने साथ ही साथ में इस बात के ऊपर भी ध्यान केन्द्रित किया कि अभी फिलहाल के जो भी हालात है उसको देखते हुए हमें अपने मुख्य उद्देश्य को नही भूलना चाहिए. क्वाड को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य इंडो पेसिफिक में शान्ति और स्थिरता को स्थापित करना है और इस क्षेत्र में हमें बेहतरी के लिए कदम भी उठाने होंगे.

आपको मालूम हो तो क्वाड संगठन को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य ही ये था कि विश्व की ये चार शक्तियां आकर के आपस में को ऑपरेशन करे और चीन के बढ़ रहे प्रभुत्व को इंडो पेसिफिक क्षेत्र में रोका जाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here