भारत ने संयुक्त राष्ट्र में नही किया रूस के खिलाफ वोट, तो कांग्रेस ने नाराज होकर कही ये बात

0
5674

अभी एक बात तो हम बहुत ही अधिक बेहतर तरीके से जानते है कि मोदी सरकार के लिए इन दिन की घडी एक तरह से परिक्षा का समय रहने वाला है और कही न कही इसके कारण से बहुत ही अधिक वैश्विक उथल पुथल भी हमें देखने को मिल जाने वाली है. अगर बात करे अभी के हिसाब से तो अभी हाल ही में अमेरिका भारत पर काफी दबाव बना रहा था कि भारत को इन दिनों में उसके साथ आना चाहिए और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक सही साइड को चुनना चाहिए.

भारत ने यूएनएससी में वोट से कर दिया परहेज
आपको मालूम ही होगा कि हाल ही में अमेरिका ने रूस की हरकतों को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में एक प्रस्ताव सामने रखा था जिसमे उसकी आलोचना करते हुए उसे पीछे हटने के लिए कहा जा रहा था. इस पर अधिकतर देशो ने अमेरिका का साथ दिया मगर भारत व चीन दोनों ने ही यहाँ पर वोट करने की बजाय इस पर कोई रिएक्शन नही दिया. एक तरह से भारत एब्सटेन कर गया. कही न कही ये बहुत ही बड़ा फैसला था जिसका फायदा रूस को हुआ.

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा, दोस्त को आइना दिखाना जरूरी
इस पूरे मुद्दे के ऊपर कांग्रेस पार्टी की तरफ से सांसद मनीष तिवारी ने बयान जारी करते हुए कहा है कि अब वो समय आ चुका है जब हमारा देश कोई स्टैंड ले न कि साइड में खड़ा हो जाए. मैंने सच में उम्मीद की थी कि भारत यूक्रेन के पक्ष में वोट करेगा और यूक्रेन के लोगो के साथ में एकजुटता दिखाएगा.

आखिर उनके साथ में जो कुछ भी हो रहा है वो अपने आप में न्यायिक तो बिलकुल भी नही है. जब दोस्त कुछ गलत करते है तो उनको बताना भी चाहिए कि ये तुम सही नही कह रहे हो. कांग्रेस पार्टी यहाँ पर कही न कही अमेरिकी पक्ष की तरफ जाने की सलाह देते हुए नजर आ रही है, हालांकि उन्होंने नाम यूक्रेन का ही लिया  लेकिन असल में पक्ष तो वही ही है.

कही न कही इस पूरी घटना के चलते हुए भारत में काफी अधिक वाद विवाद होने लग गया है मगर आखिर में इसका हल क्या कुछ निकलने वाला है ये हम भी नही जानते है क्योंकि घटना पूरी तरह से वैश्विक बन चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here