क्या भारत पर अपना साथ देने के लिए दबाव बनाएगा अमेरिका, बायडन ने कह दी इतनी बड़ी बात

0
1928

अभी फिलहाल में  अमेरिका काफी अधिक चिंता में नजर आ रहा है. कही न कही अमेरिका और इसके प्रतिद्वंदी देश सभी आपस में एक दुसरे के खिलाफ खड़े है और ऐसे समय में भारत का स्टैंड अपने आप में बहुत ही अधिक महत्त्वपूर्ण रखता है इस बात को कभी भी नकारा नही जा सकता है. बात सिर्फ यही पर ही नही रूकती है बल्कि अमेरिकी राष्ट्रपति खुद भी इस मामले को लेकर के काफी अधिक गंभीर है लेकिन उन्होने भारत के ऊपर दबाव न बनाने की तरफ इशारा किया है.

भारत के रुश के साथ ऐतिहासिक सम्बन्ध, अमेरिका के साथ भी पार्टनरशिप पिछले दशक में बेहतर हुई
अभी हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति से एक पत्रकार ने ये सवाल कर लिया कि इस बात को लेकर के आप क्या कहना चाहते है जब भारत का  इस पर क्या कुछ स्टैंड रहने वाला है? जो भी अभी ग्लोबल समीकरण रहेंगे उस पर क्या आप भारत से बात करने भी वाले है? एक बार के लिए जब बायडन ने इस बात को सुना तो फिर वो अपने आप में कही न कही सोचने लगे और फिर उन्होंने इसके ऊपर जवाब भी दिया.

इस पर जवाब देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत के रूस के साथ में टाइम टेस्टेड और ऐतिहासिक रिश्ते रहे है इस बात में कोई दो राय नही है लेकिन अमेरिका के साथ में भी भारत के पिछले एक डेढ़ दशक में रिश्ते काफी अधिक बेहतर हुए है और दोनों ही स्ट्रेटजिक पार्टनरशिप को बढाते हुए आगे आये है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत के हितो का भी यहाँ पर सम्मान किया है और वो नजर भी आ रहा है.

भारत पर फिर भी रहेगा दबाव
हालांकि बायडन के बयानों में अभी के लिए अधिक सख्ती नजर नही आ रही है लेकिन फिर भी जब मामला काफी अधिक बढेगा और कई अंतर्राष्ट्रीय मंचो के ऊपर वोट करने की बारी आएगी तो भारत को हर बार दो पक्षों में से किसी एक को चुनने का दबाव सहन करना पड़ेगा और ये काफी अधिक चिंता वाली बात होगी.

अब ऐसे में आगे चलकर के क्या कुछ निर्णय निकलकर के आते है ये अपने आप में देखने वाली बात ही होने जा रही है. खैर अभी तो आगे यूकरेन के ऊपर क्या कुछ घटनाक्रम बढ़ते है ये आगे की बातो को निर्धारित करने वाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here