कांग्रेस ने चुनावो में खर्च किये 1405 करोड़ रूपये, जानिये भाजपा ने कितना पैसा बहाया

0
1669

अभी चुनावी दिन चल रहे है और इन दिनों में काफी कुछ है जो बदलता चला जा रहा है. हमने भी देखा है कि हर वर्ष कही न कही किसी राज्य में चुनाव होते रहते है और इसमें अगर अपनी पकड़ बनाये रखनी है तो फिर पार्टियों को इसमें पैसा बहाना ही पड़ता है और इस बात मे कोई भी संशय नही है, इसलिए कहा जाता है कि लोकतंत्र को बनाये रखना बहुत ही अधिक खर्चीला काम है. चलिए आज हम आपको पिछले कुछ वर्षो के पार्टियों के खर्च के बारे में बताते है.

पिछले पांच वर्षो में भाजपा ने खर्च किये 3585 करोड़, वही कांग्रेस इसके आधे से भी कम पर
अभी हाल ही में राजनीतिक पार्टियों ने गत पांच वर्षो के राजनीतिक प्रचार प्रसार और उम्मीदवारों के ऊपर किये गये खर्च का विवरण चुनाव आयोग को दिया है और जब इसके आंकड़े को हम देखते है तो फिर ये अपने आप में चकित करने वाला होता है. सबसे अधिक खर्च भाजपा ने किया है, उनका पिछले पांच वर्षो का खर्च 3 हजार 585 करोड़ रूपये था जो अपने आप में काफी अधिक बड़ा अमाउंट है.

वही बात करे अगर हम लोग कांग्रेस पार्टी की तो उन्होंने भी पिछले पांच वर्षो में कुल 1 हजार 405 करोड़ रूपये खर्च कर दिए है और ये भी कोई छोटा अमाउंट नही है. ये दो पार्टियां राष्ट्रीय स्तर पर खेलती है और लगभग हर राज्य में इनके उम्मीदवार है तो इस कारण से इनका खर्च बाकी दलों की तुलना में कई अधिक है और साइज़ में भी ये काफी बड़ी है.

भाजपा को मिलने वाला पैसा भी दूसरो से कई गुना
अधिक जब हम देखते है कि आधिकारिक रूप से भारतीय जनता पार्टी सबसे अधिक पैसा बहाने वाली पार्टी बन चुकी है तो ऐसे समय में भाजपा को इलेक्टोरल बांड्स से भी अधिक पैसा मिलता है जो दुसरे पायदान पर रहने वाली कांग्रेस पार्टी से भी कई गुना है. एक रिपोर्ट के अनुसार महज 2019-20 में ही भाजपा की कमाई 3623 करोड़ रूपये पहुँच चुकी थी.

जबकि कांग्रेस महज 600 करोड़ से ही कुछ आगे बढ़ पायी थी. कही न कही इससे ये भी पता चलता है कि जनता से अधिक पैसा एक पार्टी की तरफ ही जा रहा है और वो जीत भी रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here