मोदी का जलवा, UAE ने किया भारत को लेकर बहुत ही बड़ा ऐलान

0
1684

भारत पिछले कुछ समय में अपने डिप्लोमेटिक रिश्तो को लगातार सुधारता चला जा रहा है और इस कारण से जब भी हम विश्व मंच पर बात करते है तो फिर हमें कई सारे फायदे अप्रत्याशित रूप से होते हुए नजर आ रहे है और ये हम भी देख रहे है. कही न कही ये बात हम लोग भी बहुत ही अधिक अच्छे से समझते है. खैर अब जो भी है अगर हम लोग बात करते है अभी की तो फिलहाल में भारत के मिडल ईस्ट के साथ में सम्बन्ध काफी अधिक बेहतर हो चुके है और इसका हमें फायदा भी नजर आ रहा है.

यूएई भारत में करेगा 100 बिलियन डॉलर का निवेश
सबसे पहले तो हमारे लिए ये जानना आवश्यक है कि अभी यूएई के साथ में भारत एक फ्री ट्रेड अग्रीमेंट साईन करने जा रहा है और इसके बाद में दोनों देश एक दुसरे के साथ में ट्रेड सौ बिलियन डॉलर से भी अधिक का करने की कोशिश कर रहे है. हालांकि ये तो एक बात हो गयी और दूसरी बात ये भी है कि ये देश भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर में भरपूर निवेश करने जा रहा है.

भारत ने अभी हाल ही में जो 111 लाख करोड़ रूपये का नेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन प्रोजेक्ट लांच किया है जिसके तहत पूरे देश के इन्फ्रा का नवीनीकरण सा होने वाला है उसमे 100 बिलियन डॉलर का निवेश इस देश से भी आने वाला है और ये अपने आप में काफी बड़ी बात है. इस पैसे से कम से कम भारत के एक राज्य को अच्छे से विकसित करने में सहायता मिल सकती है ये इतना अधिक धन है.

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारत की बढ़ेगी वैल्यू
जब भी कोई देश किसी अन्य देश के प्रोजेक्ट्स में और इन्फ्रा में निवेश करता है तो इसका मतलब है वो इस बात पर भरोसा जता रहा है कि उसे उस देश की स्थिरता पर यकीन है और इससे कही न कही भारत में और अधिक बड़े निवेश आने की संभावना है और ये अपने आप में एक सकारात्मक पहलू है जो भारत के साथ में हो रहा है.

पिछले कुछ समय में भारत और मिडल ईस्ट के देशो के सम्बन्ध काफी अधिक मजबूत हुए है और इसके परिणाम हम लोगो के सामने हर मायने में देखने में भी आ रहे है जो काफी अधिक रोचक और  बेहतरीन ही कहे जा सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here