राहुल गांधी की बाते सुनकर खफा हुआ अमेरिका, बोला हम ऐसी बातो को सपोर्ट नही करते

0
2564

अक्सर हम लोग एक चीज को देखते रहते है जो काफी अधिक तीव्रता के साथ में लोगो के मध्य जगह बना रही है और वो है वैश्विक राजनीति. सब कुछ काफी अधिक त्वरित गति से लोगो के बीच में खबरे फ़ैल जाती है और अगर कोई जगह किसी देश का नेता गलत बयानबाजी करता है तो फिर उस पर लोग अपने अपने तरीके से बाते रखते हुए नजर भी आते है. अगर हम लोग बात करते है अभी के लिहाज से तो हाल ही के राहुल गांधी के बयान से अमेरिका जैसे मित्र देश थोड़े से चकित जरुर हो गये है.

राहुल ने कहा, भारत सरकार की नीतियों की वजह से चीन पाक करीब आ गये
अभी हाल ही में जब सदन में बहस चल रही थी उसमे राहुल गांधी ने कहा कि हमारी चीन और पाक को लेकर के पहले विदेश नीति साफ़ थी लेकिन मोदी सरकार ने आकर के जिस तरह की सख्त नीति रखी है उसके बाद में उन नीतियों के कारण से पाकिस्तान और चीन दोनों ही एक दुसरे के ज्यादा करीब आ गये है. उनके अनुसार ये भारत के लिये काफी अधिक बुरा है.

अमेरिकी प्रवक्ता ने कहा, मैं जाहिर तौर पर इन बातो का समर्थन नही करता
जब अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से राहुल गांधी के इस तरह के बयान पर प्रतिक्रिया मांगी गयी तो फिर उन्होंने कहा कि मैं निश्चित रूप से इस तरह की बातो का समर्थन नही करता हूँ, ये चीन और पाक का आपस का मामला है और इसे उन दोनों देशो के ऊपर छोड़ देना चाहिए.

दरअसल राहुल गांधी के बयान में भारत के उस स्टैंड की आलोचना नजर आ रही है जिसमे भारत अमेरिका के साथ में मिलकर के क्वाड ग्रुप बना रहा है और उससे चीन व पाक को एक साथ में काउंटर करते हुए नजर आ रहा है. राहुल गांधी का कहना है इस नीति से चीन व पाक करीब आ गये है और ये अमेरिका के अधिक करीब जाने के भी विरोध में नजर आता है. इससे जाहिर तौर पर अमेरिका नाराज ही होना है.

मोदी सरकार से पहले की विदेश नीति
अगर हम पूर्व की सरकार की नीतियों को देखे तो हमें ये पूर्व रक्षा मंत्री एके अंथनी के बयान में नजर आता है जब उन्होंने संसद में खड़े होकर के ये कह दिया था कि चीन के बॉर्डर पर अगर हम इंफ्रास्ट्रक्चर बनायेंगे तो वो एक एडवांस देश है और हमसे नाराज हो सकता है. इसलिए बेहतर ये है कि हम उन बोर्डेर पर कुछ काम ही न करे, हालाँकि मोदी सरकार ने आते ही इस तरह की नीति से किनारा कर लिया और अपनी सुरक्षा में बॉर्डर को अधिक विकसित करना शुरू कर दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here