मोदी सरकार ने लिया भारतीय वायुसेना को लेकर ऐतिहासिक और शानदार फैसला

0
1782

भारत में जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के पद पर आसीन हुए है तब से ही वो  कई सारे ऐसे निर्णय लेते हुए नजर आ रहे है जिनको अपने आप में एक तरह से उदाहरण के रूप में देखा जा रहा है. कही न कही ये बात हम लोग भी बखूबी जानते ही है. इस कारण से सेना में भी कई सारे रिवोल्ल्यूशन से भरे हुए निर्णय लिए जा रहे है ताकि भारत की सेना और वायुसेना के साथ में नेवी को भी इंटरनेशनल स्टैण्डर्ड के हिसाब से बेहतरीन और ज्यादा काबिल बना सके.

रक्षा मंत्रालय का फैसला, अब महिला पायलट होगी परमानेंट
रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में निर्णय लिया है कि अब से वायुसेना में महिलाओं की भर्ती को परमानेंट तौर पर किया जा सकेगा. पहले इसे प्रायोगिक तौर पर शुरू किया गया था जिसमे कुल 16 महिला पायलट्स को इस मामले में आगे शामिल किया गया. अब इनको परमानेंट किये जाने के साथ में आगे की भर्ती में भी महिला पायलट्स को परमानेंट ही किया जाएगा. यानी पुरुष और स्त्री के बीच में जेट उड़ाने को लेकर समानता आ गयी है.

राजनाथ सिंह ने बताया नारी सशक्तिकरण
इस पूरे मुद्दे पर देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए इस कदम को महिला पुरुषो के बीच में समानता विकसित करने वाला और नारी सशक्तिकरन को और अधिक मजबूत करने वाला बताया है जो अपने आप में बहुत ही अधिक शानदार निर्णय है, ऐसा कहना किसी भी एंगल से गलत नही होगा.

हालांकि महिलाएं पहले भी एयरफ़ोर्स में भर्ती होती रही है लेकिन जेट उड़ाने को लेकर के उनको आगे नही लाया जा रहा था मगर मोदी सरकार का मानना था कि एक लड़की चाहे तो ये भी कर ही सकती है और उसे रोक पाना संभव है नही, तो इसी सोच के साथ में पहले इस कदम को प्रायोगिक तौर पर शुरू किया गया और अब ये परमानेंट हो चुका है.

आपको मालूम हो तो लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह वो पहली महिला पायलट है जिन्होंने देश का सबसे अधिक आधुनिक रफाल विमान भी सफलतापूर्वक उड़ाया है और एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. इसके अलावा बाकी महिला पायलट्स सुखोई और मिग के एयरक्राफ्ट के ऊपर महारत हासिल कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here