वो 3 कारण जिनके चलते लोग अखिलेश और मायावती को छोड़ योगी को वोट देंगे

0
2818

अभी उत्तर प्रदेश में चुनावी गर्मी बढ़ गयी है. तेजी के साथ में सारे काम हो रहे है और देखते ही रहे है कि किस तरह से तीनो पार्टियां आपस में एक दुसरे से वोट्स खींचने में लगी हुई है. खैर जो भी है अभी के वोट्स को देखा जाए तो फ़िलहाल के लिए भारतीय जनता पार्टी हर चीज में लीड करते हुए नजर आ रही है और इसके पीछे कई सारे कारण भी है. आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे है जिनके चलते हुए लोग योगी को अधिक प्रिफर कर रहे है.

सोशल वेलफेयर स्कीम का पैसा सीधे पहुँचना
अभी हाल ही में गैस योजना हो, कन्या से जुडी स्कीम्स हो, लोगो के खाते में पैसे पहुंचाना हो या फिर भत्ते मिलने से लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी योजनाएं हो सभी का पैसा बिना किसी भ्रष्टाचार के लोगो के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिये पहुंचा है. ये संख्या लाखो करोडो में है और योगी सरकार से पहले ये पैसा बिचौलियों के बीच में काफी हद तक खत्म हो जाता था और लाभार्थी हाथ मलते रह जाते थे. इसने बहुत से लोगो के जीवन को बदला है और ये एक की रोल प्ले कर रहा है जो योगी जी की इमेज को मजबूत कर रहा है.

लोगो का अधिक सुरक्षित महसूस करना
डाटा और गणित चाहे कुछ भी कहते हो लेकिन योगी सरकार ने अपना एक नेरेटिव बिल्ड कर दिया जिसमे उन्होंने यूपी को अपराधियों के हाथो से मुक्त किया है. कई सैकड़ो की संख्या में हुए एनकाउटर हो, मुख्तार अंसारी और आजम खान जैसे बड़े लोगो के खिलाफ कार्यवाही करना हो या फिर नॉएडा जैसे शहरो में पुलिस सिस्टम को आधुनिक करना हो इन चीजो ने योगी सरकार के प्रति एक पोजेटिव रूख कायम किया है.

सर्वसम्मिलित सरकार के रूप में प्रतिष्ठित
जहाँ एक तरफ मायावती की छवि सिर्फ दलित वोटो के लिए फेमस है वही अखिलेश यादव को यादव वोट बैंक के आधार पर अधिक जाना जाने लगा था. मगर भाजपा ने इसी का फायदा उठाकर के गैर यादव ओबीससी वोटो और जनरल वर्ग के लोगो पर काफी अच्छी खासी पकड़ बना ली है जो अब आँख बंद करके योगी पर भरोसा भी कर रहे है.

इन्ही कारणों के चलते हुए लोग कही न कही योगी सरकार पर भरोसा कर रहे है और सर्वे के आंकड़ो में भी कही न कही योगी सरकार को अपर हैण्ड मिलते हुए नजर आ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here