मोदी सरकार को इस साल किसी भी हालत में चुकाना होगा 18 लाख करोड़ का कर्ज, नही तो

0
7640

आज भारत काफी अधिक तरक्की कर रहा है और हमारे पास में अच्छा खासा पैसा भी है. सरकार दिन ब दिन फोरेक्स रिजर्व के मामले में धनी होती जा रही है और कही न कही चीजे बहुत ही ज्यादा सकारात्मक होते हुए दिख रही है. मगर कई चीजे होती है जो नागरिको के सामने अचानक से आती है, हालांकि सरकार के सामने तो सब कुछ पहले से ही खुल्ला चिटठा होता है. खैर अगर अभी की बात करे तो ये साल भारत के लिए काफी अधिक बोझ से भरा हुआ रहने वाला है.

भारत को इस वर्ष चुकाना होगा 18 लाख करोड़ का कर्ज, विभिन्न जगहों से उठाया था पैसा
आज से लगभग एक दशक पहले भारत की सरकार ने विभिन्न देशो से, संगठनों से और बांड्स इशू करके काफी सारा पैसा मार्किट से उठाया था और अब इनको चुकाने का साल आ चुका है. 2022 इनके पेमेंट का आखिरी वर्ष है और एस्टीमेट के हिसाब से इस वर्ष भारत को कुल 256 बिलियन अमेरिकी डॉलर या इसके बराबरी का भुगतान करना है. इसे भारतीय मुद्रा में देखे तो ये लगभग 18 लाख करोड़ रूपये है.

भारत के फोरेक्स रिजर्व में होगी भारी कटौती, रूपये की वैल्यू गिरेगी
भारत का फोरेक्स रिजर्व वैसे अभी के लिए 600 बिलियन से भी ज्यादा का हो चुका है लेकिन अब इस वर्ष भारत को लगभग 256 बिलियन डॉलर का तो उधार ही चुकाना है जिसका एक बड़ा हिस्सा भारत के फोरेक्स रिजर्व से ही जाने वाला है तो हो सकता है इस वर्ष के अंत तक भारत का फोरेक्स रिजर्व 400 बिलियन के आस पास पहुँच जाए.

हालांकि इसका कोई लॉन्ग टर्म इफ़ेक्ट नही है लेकिन हो सकता है कुछ समय के लिए रूपये की वैल्यू में इसके कारण से गिरावट आये मगर ये कुछ ही महीनो में दुबारा से स्थिरता के तरफ भी लौट आएगा और क्योंकि भारत एक स्थिर इकॉनमी है तो भारत फिर से फोरेक्स रिजर्व को बढ़ा भी लेगा, लेकिन अभी देश किसी भी तरह का डिफ़ॉल्ट न कर जाए इस कारण से पैसा चुकाना बेहद जरूरी हो गया है.

माना जा रहा है इस पैसे को चुकाने के बाद में सरकार और भी काफी पैसा लोन या फिर इन्वेस्टमेंट आदि के रूपये में अंतर्राष्ट्रीय बाजार से उठा सकती है ताकि जो भी विकास आदि के कार्य चल रहे है उनमे किसी भी तरह का धीमापन न आ जाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here