यूपी चुनाव: अखिलेश यादव को नही चाहिये दलितों का साथ, सामने आ रही बड़ी खबर

0
2602

अभी यूपी में चुनाव सर पर आ खड़े हुए है और इससे पहले हर कोई अपने अपने तरीके से हार जीत का विश्लेषण कर रहा है. जाहिर तौर पर ये सब अपने अपने हिसाब से ही किया जा रहा है और इस मामले में सभी लोगो के अपने अपने जांच परख करने के तरीके होते है. अब दलित इस चुनाव में काफी अहम भूमिका निभाने वाले है क्योंकि इनके वोटो का प्रतिशत ठीक ठाक है लेकिन वर्तमान में आरोप ये लगे है कि अखिलेश यादव को दलितो की कोई चिंता ही नही है.

चन्द्रशेखर का आरोप, अखिलेश ने दलितों का अपमान किया
अभी हाल ही में भीम आर्मी के प्रमुख और दलितों के नेता चन्द्रशेखर आजाद ने अखिलेश यादव पर जमकर के काफी अधिक आरोप मढ़े और कहा कि अखिलेश यादव सामाजिक न्याय का अर्थ ही नही समझते है. मेरी अखिलेश यादव से पिछले छः महीनो में कई मुलाक़ात हुई है और इस बीच कुछ सकारात्मक बातचीत भी हुई लेकिन आखिर में मुझे लगा उनको दलितों के साथ की जरूरत ही नही है.वो गठबंधन में दलित नेताओं को नही चाहते है.

अखिलेश ने भी किया पलटवार
|जब इस तरह के आरोप लगेंगे तो जाहिर तौर पर अखिलेश भी चुप तो नही रहेंगे. इस पर जवाब देते हुए सपा प्रमुख ने कहा कि हमने तो उनको दो सीट देने का निर्णय किया था लेकिन उन्होंने फोन पर किसी से बात की और फिर गठबंधन का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया. यानी अखिलेश दलित नेताओं को सिर्फ और सिर्फ दो सीट ही ऑफर कर रहे थे और ये बात चन्द्रशेखर को बुरी लग गयी.

खैर अभी इससे जाहिर तौर पर फायदा तो आखिर में भाजपा को ही होते हुए नजर आ रहा है क्योंकि अगर विपक्ष में गठबंधन और अधिक मजबूत बनता है और अलग अलग धाराओं के नेता आकर के एक होते है तब तो फिर बात कुछ अलग होती लेकिन यहाँ पर तो इनमे ही फूट पड़ रही है और ऐसे में फायदा तो योगी को ही होना है.

हालांकि मायावती ने अभी तक इस पर कोई भी टिप्पणी नही की है और वो चुनावों से पहले तक कोई भी विवादों में पड़ने से बच भी रही है क्योंकि जब हम नजर डालते है तो वो अब पिछडो के साथ अगड़े वोट्स पर भी नजर डाले हुए है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here