भारत ने फ्रांस को भेजी स्पेशल रिक्वेस्ट, अगर मान ली तो पाकिस्तान चौतरफा घिर जायेगा

0
3288

भारत आज विश्व में एक तीव्रता के साथ में उभर रही अर्थव्यवस्था के रूप में देखा जाता है और इसी कारण से भारत के काफी अधिक शक्तिशाली देश भी मित्र है. जब भी कोई डिप्लोमेटिक स्तर पर काम करना होता है या फिर कोई जीत हासिल करनी होती है तो फिर इनका साथ बेहद ही जरूरी होती है. ऐसे में अब पाकिस्तान को अलग थलग करने के लिए मोदी सरकार ने एक ऐसा कदम उठाया है जिसके बाद से ही पाक में चिंता का आलम साफ़ तौर पर देखा जा सकता है.

भारत ने किया फ्रांस से अनुरोध, यूरोपियन यूनियन से लगवाये पाक से डिफेन्स डील पर प्रतिबन्ध
अभी हाल ही की बात है जब रिपोर्ट्स के अनुसार भारत ने फ्रांस से विशेष अनुरोध किया है कि यूरोपियन यूनियन की अध्यक्षता का इस्तेमाल करते हुए वो वहां पर एक प्रस्ताव पारित करवा दे कि इस यूनियन का कोई भी देश पाकिस्तान के साथ में कोई भी डिफेन्स डील नही करेगा. अगर फ्रांस ऐसा कर देता है तो पाक के लिए ये काफी बड़ी मुसीबत बन सकता है.

रूस और अमेरिका पहले ही पाक को नही देते डिफेन्स का ख़ास समान, यूरोप के रास्ते भी बंद हो सकते है
आपको मालूम हो तो अमेरिका भारत का अब स्ट्रेटजिक पार्टनर बन चुका है और इसी कारण से अब अमेरिका पाक को अपने कोई भी रक्षा से जुड़े सामान नही देता है. यही नही रूस से भी भारत काफी भारी मात्रा में डिफेन्स डील करता है जिसके चलते रूस भी पाक को अपना समान नही बेचने के लिए प्रतिबद्ध दिखता है.

ऐसे में अभी के लिए यूरोप के देश ही है जहाँ से पाक खुलकर के डिफेन्स के सामान खरीद पाता है लेकिन अगर भारत यहाँ से भी प्रतिबन्ध लगवा देता है तो फिर पाक के पास में सिर्फ एक चीन ही बचेगा जिससे वो अपनी सेना के लिए डिफेन्स के सामान खरीद सकेगा.

ये काफी अधिक हास्यास्पद ही है कि पाक के खुद  के मिलिट्री से जुड़े अधिकारी भी चीन के डिफेन्स सामानों पर अधिक भरोसा नही करते है क्योंकि अभी तक चीन ने कोई भी बड़ी लड़ाई नही लडी है और ऐसे में उसके सामान कितने अधिक कारगर और दूरगामी है ये तो सिर्फ अंदाजे पर ही चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here