स्वामी प्रसाद मौर्य ने कल छोड़ी थी भाजपा, आज कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

0
10538

उत्तर प्रदेश की राजनीति में इन दिनों में काफी अधिक उफान आया हुआ है. हाल ही में भाजपा से जुड़े हुए एक काफी अधिक बड़े और महत्त्वपूर्ण नेता ने पार्टी छोड़ी और कई बाते ऐसी भी कही जिसको लेकर के विवाद खड़े हो गये है. खैर ये सब चुनावो से पहले होना आम तौर पर काफी अधिक आम होता है क्योंकि चुनावी प्रक्रिया का ये भी एक हिस्सा है जहाँ पर हर कोई अपना फायदा देखता है. मगर हाल ही में जो हुआ है वो अपने आप में काफी अधिक खबर बनाने वाला है.

कल छोड़ी थी भाजपा, आज गिरफ्तारी वारंट हुआ जारी
कल ही स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा और साथ ही साथ में केबिनेट का मंत्री पद छोड़ दिया था और ये आरोप भी लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी में नीचे वर्ग के लोगो के साथ में भेदभाव होता है. इस कारण से स्वामी प्रसाद मौर्य ने पार्टी छोड़ दी. वही भाजपा समर्थको का आरोप है कि अगली बार टिकट न मिलने के डर से पार्टी छोड़ी है और वो फिर से बसपा या फिर सपा में जा रहे है इसके लिए उन्होंने ये सब खेल रचा है.

मगर पार्टी छोड़ने के अगले ही दिन उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो गया है और ये जारी कोर्ट ने किया है. दरअसल स्वामी प्रसाद मौर्य के ऊपर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मामला चल रहा है और सुलतानपुर कोर्ट ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है. दरअसल उनको 12 जनवरी को पेश होने के लिए आदेश दिया गया था लेकिन वो नही हुए जिसके चलते हुए अब उनके खिलाफ वारंट जारी किया गया है.

या तो वो 24 जनवरी को कोर्ट में पेश हो या फिर उनकी गिरफ्तारी भी की जा सकती है. स्वामी प्रसाद मौर्य के ऊपर आरोप है कि बसपा में रहने के दौरान उन्होंने कुछ ऐसी टिप्पणियाँ की थी जो हिन्दू धर्म से जुड़े हुए लोगो को ठेस पहुंचाने वाली थी और इसी सम्बन्ध में कोर्ट में सुनवाई भी चल रही है.

अब कई लोग इसे राजनीति से जोड़कर के भी देख रहे है लेकिन  असल में ये न्यायिक मामला है और ऐसे में स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ जाहिर तौर पर जो भी एक्शन चल रहा है वो ज्यूडीशरी के हिसाब से ही चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here