सीएम योगी ने बताया, क्यों मठ और मंदिर छोड़कर राजनीति में आना पड़ा

0
2786

आज सीएम योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में एक बहुत ही बड़ा और जाना हुआ नाम है. मुख्यमंत्री होने के साथ ही साथ में वो एक बहुत ही अधिक पोपुलर नाम भी है जिनकी लोकप्रियता को कोई भी किसी कीमत पर तो आंक ही नही सकता है. कही न कही ये बात तो हम लोग भी बहुत ही अच्छे से जानते है. मगर कभी एक साधू की जिन्दगी जीने वाले सीएम योगी को यूँ राजनेता वाले लाइफ में क्यों आना पड़ा ये सवाल तो हर कोई पूछता है और इसपर खुद सीएम योगी आदित्यनाथ भी बोले है.

खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान, माफिया का सफाया करने मठ छोड़ राजनीति में आया
सीएम योगी जी ने हाल ही में एक पुरानी घटना का जिक्र किया और बताया कि जब में कभी मठ में रहा करता था तब मेने देखा कि एक व्यक्ति के घर के ऊपर मंत्री के लोग कब्जा कर रहे थे. उनके घर से सामान को बाहर फेंका जा रहा था और स्थिति काफी अधिक खराब लग रही थी. सबसे अधिक खराब बात तो ये थी कि कोई भी उनका विरोध नही कर रहा था.

सरकार में मौजूद लोग ही जब ये सब कुछ करते है तो इसी ने मुझे राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया. सीएम का कहना है कि वो बस ऐसे ही गलत किस्म के लोगो का सफाया करने के लिये राजनीति में आये है और वो आगे भी इसमें बने रहने वाले है. कही न कही सीएम योगी ने ये जो भी बाते कही है वो उनके इस क्षेत्र में आने के मकसद को बताती है.

चुनावों को लेकर बढ़ रही गर्मी
अभी फ़िलहाल हर नेता अपने पक्ष में हवा बनाने में लगा हुआ है और ऐसा होना अपने आप में लाजमी भी है क्योंकि हर किसी को जीतना है और ऐसे में योगी आदित्यनाथ जैसे नेताओं के राजनीति में आने के कारण भी उछाले जाने लगे है क्योंकि ये कही न कही भाजपा को एक प्लस पॉइंट देने का कार्य ही करते है.

खैर अब जो कुछ भी हो जब इतना कुछ घटित हो चुका है तो फिर इसके बाद में हमें एक चीज और है जो नजर आती है और वो ये कि अभी के लिए हम किसी पर भी अधिक भरोसा कर नही सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here