अयोध्या और काशी के बाद मथुरा की तैयारी, सीएम योगी के हालिया बयान के बाद मची हलचल

0
2737

भारतीय जनता पार्टी और संघ के मुद्दों में अयोध्या तो कई दशको से था और अब ये लगभग पूरा हो ही चुका है. दूसरी तरफ बात की जाये अगर काशी की तो फिर वहाँ पर भी काशी विश्वनाथ कोरिडोर के साथ में एक नयी शुरुआत की जा चुकी है जिससे कि जो भी धार्मिक लोग है उनकी आस्था का सम्मान किया जा सके. जाहिर तौर पर इसके कारण से राजनीतिक फायदे होते है ये अलग बात है लेकिन एक चीज ये भी है कि लम्बे समय के बाद इसे उठाया जा रहा है.

योगी जी का बयान, अयोध्या में राम मंदिर काशी में विश्ननाथ तो मथुरा कैसे छूट जायेगा
अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी फर्रूखाबाद में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे और उसी के दौरान उन्होंने कहा कि हमने वादा किया था अयोध्या में राम मंदिर का कार्य शुरू होगा. अब तो वाराणसी में भी विश्वनाथ जी का धाम बन रहा है, जब इतना सब कुछ हो गया है तो फिर भला मथुरा और वृन्दावन को कैसे छोड़ सकते है? कार्य तो वहां पर भी आरम्भ हो चुका है.

सीएम योगी द्वारा दिए गये इस बयान के दो मायने निकाले जा रहे है. पहला तो ये कि मथुरा वृन्दावन को धार्मिक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा और सब कुछ अति सुन्दरता के साथ पूर्ण होगा और फिर दूसरा एक मायना ये भी निकलकर के आ रहा है कि जो मथुरा में कृष्ण लला की जमीन होने का दावा किया जा रहा है और मस्जिद बनी हुई है उसे लेकर कोर्ट में लड़ाई और बढ़ेगी, जमीन पर भी कुछ हलचल देखने को मिल सकती है.

पिछले कुछ महीनो पर मथुरा पर अधिक जोर दे रहे योगी
अगर हम वर्ष 2020 से देखना शुरू कर दे तो सीएम योगी का ध्यान और झुकाव मथुरा वृन्दावन की तरफ काफी अधिक बढ़ चुका है. यहाँ पर कई दौरे करना, कई योजनाओं की शुरुआत करना, शहर को धार्मिक क्षेत्र घोषित करने से लेकर यहाँ पर मांस आदि बेचने पर रोकने समेत कई बड़े बड़े निर्णय भी लिए गये है.

इसे लेकर लोग काफी अधिक आशंकित है कि आने वाले वक्त में योगी सरकार और भाजपा कुछ तो अलग और बड़ा करने के मूड में है मगर असल में वो क्या होगा और किस रास्ते से यानी कानूनी या कोर्ट के तरीके से किस तरह से होगा ये तो कोई भी नही जानता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here