लडकियों की शादी की उम्र बढाने जा रही सरकार, विरोध में उठने लगे सुर

0
2101

भारत आज के समय में एक उभरता हुआ विकसित देश बन रहा है और समय के साथ में चीजे बदल भी रही है ये भी हम देख ही रहे है. अब ऐसे में वक्त वक्त पर नियम कायदे आदि भी बदलते रहते है ये भी हम लोग बखूबी जानते है. अगर अभी की बात की जाये तो सरकार शादी की उम्र लडकियों के मामले में बढाने के ऊपर विचार कर रही है और ये अपने आप में बहुत ही बड़ी खबर के रूप में देखा जा रहा है.

18 से बढकर 21 हो सकती है लडकियों की शादी की उम्र
अभी हाल ही में केंद्र की केबिनेट ने एक विधेयक को मंजूरी दे दी है जिसके तहत लडकियों की शादी की उम्र बढाकर के 21 की जानी है. यानी अब से भारत में लड़कियों की शादी की वैध उम्र जल्द ही 18 से बढाकर के 21 की जा सकती है और जिस दिन से ये विधेयक क़ानून की शक्ल लेगा उसके बाद से 21 से छोटी उम्र की लड़कियां शादी करना चाहे तो नही कर सकेगी उसे बाल विवाह में गिना जाएगा.

विरोध में भी उठने लगे है सुर
सरकार के इस ड्राफ्ट को लेकर के विपक्ष की पार्टियाँ लगातार विरोध कर रही है. ओवैसी का कहना है अगर कोई लड़की 18 की उम्र में वोट कर सकती है तो फिर वो शादी क्यों नही कर सकती है? वही एक ओपिनियन नेताओं का निकलकर के ये भी आ रहा है कि ये सरकार का यूनिफार्म सिविल कोड की तरफ बढ़ने के लिए कदम है जो साफ़ तौर पर नजर भी आ रहा है.

अब सरकार इसमें कुछ भी बोलने से बच रही है क्योंकि मामला अपने आप में इस तरह से से रखा जा रहा है जिससे देश का लगभग हर तरह का नागरिक प्रभावित होगा क्योंकि शादी ब्याह तो हर किसी के जीवन का हिस्सा है. जाहिर तौर पर ये तो होना ही है और ये हम सबके ऊपर इफ़ेक्ट भी डालने वाला है.

मगर इसका विरोध किस स्तर तक हो पाता है और क्या सदन में इसको लेकर के विरोध होता है ये तो अपने आप में देखने वाली ही बात होगी. हालांकि अभी के लिए चीजे थोड़ी सी उलझी हुई दिखाई जरुर दे रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here