मोदी का मास्टरस्ट्रोक, रास्ते में सिर्फ एक काँटा बचा था उसे भी निकाल फेंका

0
8814

प्रधानमंत्री मोदी जी हमेशा से ही अपनी एक अलग किस्म की दूरदर्शिता के लिए जाने जाते है और इस बात में कोई शक भी नही कर सकता है. जिस तरह से पिछले कुछ समय में मोदी जी के नेतृत्व में चुनाव जीते गये है वो अपने आप में पूरी तरह से अप्रत्याशित था. अभी इन दिनों में एक काफी बड़ा विरोध पक्ष पैदा हो रहा था जिन्हें हम किसान नेता के रूप में देख सकते है. मगर अब ये विरोध भी भाजपा के सामने पूरी तरह से ठंडा पड़ चुका है.

किसान आन्दोलन छोड़ वापिस घर रवाना हुए किसान, सरकार के खिलाफ चल रहा एक मात्र विरोध भी हुआ खत्म
अभी किसान और किसान नेताओं के बीच में चल रही वार्ता आदि के परिणाम सकारात्मक रूप से नजर आने लग गये है और इसी के कारण से अभी हाल ही में किसान नेताओं जिनमे राकेश टिकैत भी शामिल है उन सभी ने आन्दोलन एक तरह से खत्म करके वापिस घर निकलने का ऐलान किया है यानी सरकार के खिलाफ किया जा  रहा किसान आन्दोलन अब समाप्त होने जा रहा है.

खबर के अनुसार किसान आज अपनी एक अंतिम रैली करेंगे और उसमे टिकैत और बाकी नेता भी शामिल होंगे. ये सब लोग मिलकर के घर वापसी करने जा रहे है, यानी दिल्ली से लेकर यूपी और विभिन्न शहरो में जो कोई भी आन्दोलन और भीड़ भाड किसानो के कारण चल रही थी वो आज के बाद में खत्म हो जायेगी. ये अपने आप में काफी अच्छी बात भी है.

अब सरकार को यूपी चुनावों में कोई दिक्कत नही आएगी
सरकार द्वारा किसान क़ानून जब से वापिस लिए गये है उसके बाद से ही चीजो के नरम पड़ने की शुरूआत हो गयी थी और फिर कई चीजो पर सहमती बन गयी जिसके कारण से किसान रास्ते छोड़कर के अपने अपने घरो की तरफ जाने के लिए राजी हो गये और इससे बढ़िया भला और कुछ हो भी क्या सकता है?

इससे सबसे अच्छी बात ये रहेगी कि यूपी के किसानो में जो भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही थी कि मोदी और योगी बड़े होकर के किसान विरोधी बन चुके है वो अब नही हो पायेगा और आने वाले राज्य के चुनावों में जीत मिलने के चांस अधिक बन जायेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here