भारत की विदेश नीति में बड़ी चूक, चीन हुआ गद गद अमेरिका हुआ नाराज

0
3398

अभी के लिए वैसे तो भारत काफी तेजी से अपने आपको पश्चिमी देशो के साथ में खड़ा कर रहा है और ये चीज हम लोग अच्छे से देख भी रहे है कि किस तरह से चीजे अब भारत के पक्ष में आने लग गयी है. अमेरिका, जापान और यूके जैसे नए मित्र देशो के साथ में मिलकर के भारत चीन को काउंटर कर रहा है मगर जब बात आती है कई मौको की तो फिर वहां पर अजीब चीजे हो जाती है और अभी हाल ही में ऐसा ही कुछ होते हुए नजर भी आ रहा है.

अमेरिका आदि मित्र देश कर रहे चीन के विंटर ओलंपिक्स का बहिष्कार, भारत ने कर दिया चीन का समर्थन
अभी चीन ने पिछले वर्षो में जो कुछ भी किया है जैसे करोना की परेशानी हो, समुद्री रास्तो में दिक्कते खड़ी करना हो या फिर ट्रेड वार चलानी हो इन कई चीजो के मिले जुले परिणाम के रूप में विश्व के कई देशो जैसे अमेरिका, यूके, ऑस्ट्रेलिया आदि ने निर्णय किया है कि हम चीन के विंटर ओलंपिक्स का डिप्लोमेटिक बहिष्कार कर देंगे.

ऐसे में भारत से भी यही उम्मीद थी कि भारत भी यही करेगा क्योंकि आज भारत अमेरिका का एक अच्छा दोस्त है और चीन से तो हमारी अच्छी बनती भी नही है, मगर अभी हाल ही में भारत ने एक डिक्लेरेशन पर साईन कर दिया है जिसमे हमने चीन के इन विंटर ओलंपिक्स का पूरे पुरजोर समर्थन कर दिया है और तो और अपनी ग्लोबल स्थिति को भी एक तरह से कमजोर कर दिया है क्योंकि इससे अमेरिका जैसे देशो का भरोसा भारत पर फिर से कमजोर हो सकता है.

मित्र देश हुए चकित, चीन मामले को भुना रहा
अभी भारत के कई मित्र देश इस बात को लेकर के चकित है क्योंकि जिस तरह से भारत ने यूँ अचानक से चीन के लिए पाला बदला है उससे नाराजगी आना भी अपने आप में स्वाभाविक है. हालांकि माना जा रहा है कि रूस के कहने पर भारत ने ऐसा किया है लेकिन अन्दर की बात अब तक कोई भी समझ नही पा रहा है.

इसे देखते हुए अब चीन भी मौके का फायदा उठा रहा है और इनके मुखपत्र ने ये तक लिखा है कि जिस तरह से भारत ने चीन का ऐन मौके पर समर्थन कर दिया है वो ये दिखाता है कि भारत अमेरिका का प्राकृतिक मित्र हो ही नही सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here