मोदी जी ने कृषि क़ानून वापिस लेने की घोषणा कर दी, लेकिन अब ये फैसला पड़ गया है उल्टा

0
5899

अभी हाल ही के दिनो में प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक उनसे काफी अधिक नाराज नजर आये है और इस नाराजगी के पीछे कारण भी है. जिस तरह से मोदी सरकार ने पिछले कुछ समयकाल में चीजो को सुलझाया है और आन्दोलन आदि कम करने की कोशिश की वो अपने आप में एक तरह से उल्टा पड़ते हुए नजर आ रहा है क्योंकि जिस तरह के प्रभाव की उम्मीद सभी लोगो ने की थी वो अब होते हुए दिखाई नही दे रहा है.

घोषणा के बाद भी नही माने किसान संगठन, नयी मांगो की सूची सौंपते हुए आन्दोलन जारी रखने की बात कही
प्रधानमंत्री मोदी के कृषि कानूनो को वापिस लेने की घोषणा करने के बाद में भी किसान संगठन अभी तक इस पूरे मामले पर नही माने और तो और टिकैत समेत बाकी संगठनों ने इस घोषणा के बाद में आन्दोलन वापिस लेने की बजाय इसे और आगे बढाने का ऐलान कर दिया है क्योंकि वो समझ चुके है कि सरकार अब उनके आगे झुक चुकी है.

बात सिर्फ यही पर नही रूकती है. किसान संगठनों ने अब मोदी सरकार को अपनी मांगो की नयी लिस्ट पकड़ा दी है और उन्हें पूरा करने के लिए कहा है जब तक ये पूरी नही होती है तब तक ये आन्दोलन और आगे जारी रखेंगे, तो इससे कही न कही सरकार बेकफुट पर नजर आ रही है.

विरोधियो को दिया मौक़ा, समर्थक हुए नाराज
अभी जो कुछ भी घटित हुआ है उसके बाद में विरोधियो को बल तो मिला ही है लेकिन साथ ही साथ में अपना स्टैंड छोड़ने के बाद में मोदी जी खुद भी अपने समर्थको के बीच में आलोचना के पात्र बन गये. यही नही देखते ही देखते कई बड़े बड़े सेलेब जैसे कंगना रानाउत आदि ने भी पीएम मोदी के इस फैसले को लेकर के अपनी तरफ से नाराजगी व्यक्त की है.

अब ऐसे में कई लोग तो ये भी पूछने लगे है कि क्या सरकार कश्मीर पर लिए हुए अपने फैसलों पर भी स्टैंड कायम रख पाएगी या फिर उस पर पीछे हटने वाली है? जाहिर तौर पर सवाल साफ़ है और इस पर अभी तक किसी को भी जवाब मिल नही पा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here