अमित शाह ने लगा दिया ऐसा जुगाड़, जिससे 2022 में योगी जी की वापसी तय हो गयी है

0
2984

उत्तर प्रदेश में अपने आप में बहुत ही बड़े स्तर की राजनीति चल रही है और इसे हर कोई अपने अपने हिसाब से देख रहा है और समझ रहा है. अब इसमें जाहिर तौर पर योगी आदित्यनाथ सबसे बड़े उम्मीदवार के तौर पर देखे जाते है क्योंकि जिस तरह का काम वो करते है वो अपने आप में बहुत ही अधिक अच्छी बात है. ऐसे में उनको लोग पसंद तो करते ही है पर फिर भी भाजपा के लिए जरूरी है कि वो पूरी पारी अपने कब्जे में ही रखे और इस सम्बन्ध में कई बड़े कदम उठाये गये है.

कई विधायको के टिकट कटेंगे, धर्मेन्द्र प्रधान को बनाया प्रभारी
अभी के लिए अन्दर की खबर ये आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी आने वाले विधानसभा चुनावों में उन विधायको के टिकट काटने जा रही है जिनकी संख्या 75 से 100 तक हो सकती है. ये वो लोग है जो कही न कही दूसरी पार्टी से सम्बंधित है या फिर जनता इनके कामो के चलते हुए इनसे नाराज हो गयी है, भाजपा के हाई कमान ने जमीन की सारी हकीकत का डाटा इकठ्ठा कर लिया है.

इसके अलावा केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को भी यूपी में चुनाव के लिए प्रभारी बना दिया गया है जिनकी योगी आदित्यनाथ से अच्छी बनती भी है तो फिर ऐसे में कही न कही एक बात तो साफ़ तौर पर कह सकते है कि आपस में इनका सामंजस्य अच्छा रहेगा और इससे चुनाव जीतने में कही न कही आसानी बहुत ही अधिक हो ही जाती है.

बार बार योगी को बताया जा रहा सबसे श्रेष्ठ
चाहे मोदी हो या फिर बाकी कोई भी नेता आदि हो सभी लोगो के लिए कही न कही इन दिनों योगी जी ही श्रेष्ठ बने हुए है. इंटरव्यू हो या फिर रैली हो सभी भाजपा के नेता योगी जी को बेस्ट बताने से नही चूकते है और ये उनको एक अच्छे नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करने के लिए दिखाया जा रहा है.

ये चीजे एक तरह की मानसिक स्ट्रेटजी की तरह है जो उनको आने वाले वक्त में जाहिर तौर पर चुनाव जीतने में अच्छी खासी मदद करने ही वाली है और बाकी तो आने वाले वक्त में पता चल ही जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here