दुबई ने अब कश्मीर को लेकर बड़ा फैसला कर लिया है, हर तरफ मची खलबली

0
16341

कश्मीर भारत के काफी अधिक संवेदनशील स्थान में से एक माना जाता है मगर फिर भी काफी अधिक कोशिश के साथ में इसे संभालने की कोशिश की गयी और अभी वहाँ पर मोदी सरकार चीजो को बेहतर बनाने की तरफ आगे बढ़ रही है. चाहे धारा 370 को हटाना हो या फिर बाकी और भी कई सारे चले ऑपरेशन हो सबने भारत की स्थिति को मजबूत ही किया है. इस कड़ी में एक और बड़ी डेवलपमेंट दुबई से देखने में आयी है जो काफी अधिक अच्छी खबर भी कही जा सकती है.

कश्मीर एडमिनिस्ट्रेशन के साथ दुबई का मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग साइन हुआ, इस क्षेत्र में करेगा निवेश
अभी हाल ही में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के प्रयासों के कारण से दुबई की सत्ता ने सरकार ने कश्मीर के प्रशासन के साथ में एक एमओयू साईन कर लिया है जिसके तहत अब ये देश कश्मीर के क्षेत्र में अपनी  तरफ से अच्छा ख़ासा अरबो डॉलर का निवेश करने वाले है और ये सब भारत सरकार के कहे अनुसार आगे बढ़ने जा रहा है. इसके अलावा यूएई का यहाँ पर काऊसलेट खुलने की संभावनाएं भी मजबूत हो गयी है.

भारत की बड़ी डिप्लोमेटिक जीत, क्षेत्र पर दावा होगा मजबूत
पहले पाक मुस्लिम देशो पर ये दबाव डालता था कि आप कश्मीर में कोई भी निवेश नही करेंगे लेकिन भारत जैसे मजबूत ट्रेड पार्टनर को देखते हुए दुबई की सरकार ने पाकिस्तान को नजरअंदाज करते हुए ये एमओयू साईन कर लिया है और इसे भारत की बड़ी डिप्लोमेटिक जीत के तौर पर देखा जा रहा है. इससे एक तरह से ये पक्का हो जाता है कि दुबई मानता है कि कश्मीर भारत का ही हिस्सा है और हमें वहां पर निवेश करने में कोई परेशानी नही है.

अभी माना जा रहा है कि दुबई के बादमे अगले जो दो देश कश्मीर में निवेश कर सकते है वो अमेरिका और इजरायल होंगे और ये इकनोमिक से लेकर डिफेन्स में भी हो सकते है और ये अपने आप में बहुत ही बड़ी रणनीतिक बढ़त के रूप में देखा जा सकता है.

पाकिस्तान के पूर्व डिप्लोमेट ने इसे भारत की बहुत ही बड़ी जीत माना है और वर्तमान की पाक सरकार इसके कारण चिंतित है कि आखिर मुस्लिम देश भारत के पक्ष में इस तरह से क्यों चले जा रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here