ममता बनर्जी के इस कदम से कांग्रेस को भारी नुकसान, चल रही है बड़ी चाल

0
3827

राजनीति में जब कभी भी बात आती है आपसी हितो की तो फिर कोई भी नेता अपने फायदे को ही सबसे पहले देखता है और इस बात में किसी को शक भी नही होना चाहिए. चाहे विपक्षी पार्टियाँ आपस में भाजपा के खिलाफ एकजुट होने या फिर रहने की बात करती रहती हो लेकिन असल में जब अपने फायदे की बात आती है तो फिर यहाँ पर लोग अपने फायदे में ही सीमित रहते है जैसा कि अभी हाल ही में देखने में आया है.

दुसरे राज्यों में विस्तार कर रही टीएमसी, कांग्रेस के कई नेताओं को अपने में मिलाया
तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी अभी दुसरे राज्यों में विस्तार करने की कोशिश कर रहे है और इसके लिए सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस पार्टी को ही हो रहा है क्योंकि कांग्रेस के कई जमे हुए और मंझे हुए नेताओं को टीएमसी अपने में मिला रही है. अभी हाल ही में यूपी में चुनाव से पहले भी ममता बनर्जी यही काम करते हुए नजर आ रही है.

लुइजिन्हों फ्लोरो की बात कर लीजिये जो कभी गोवा के सीएम हुआ करते थे और चाहे आप असम के वरिष्ठ नेता सुष्मिता देव की बात कर लीजिये ये सब कभी कांग्रेस की मजबूत कड़ी कहे जाते थे लेकिन ममता बनर्जी अब इनको अपनी पार्टी में मिलाती चली जा रही है. अभी यूपी में भी ऐसा ही कुछ होते हुए नजर आ रहा है जहाँ पर कई कांग्रेस के छोटे बड़े नेता ममता के साथ में जा सकते है जो कांग्रेस के लिए ही घाटा है.

आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करके उतर सकती है मैदान में
अभी सूत्र बताते है कि यूपी में अपनी पहचान बनाने के लिए टीएमसी आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करके यूपी के चुनावों में उतर सकती है और इससे सीधे तौर पर कांग्रेस पार्टी का वोट बैंक टूटने वाला है और भाजपा को तो जाहिर तौर पर फायदा ही होने वाला है ये बात पूरी तरह से तय मान सकते है.

ऐसे में ममता बनर्जी से कांग्रेस पार्टी की नाराजगी अपने आप में जायज कही जा सकती है. मगर ये कब तक चलेगा ये अपने आप में देखने वाली बात ही होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here