पुतिन ने चीन को लेकर बड़ा बयान दिया है, भारत के लिये ये टेंशन वाली बात है

0
2179

अभी आज के समय में विश्व की राजनीति पूरी  तरह से बदल चुकी है और इस बारे में हम सब लोग बहुत ही अधिक अच्छे से जानते है. कही न कही चीजे बहुत ही ज्यादा दो हिस्सों में बांटते बंटते हुए नजर आ रही है और अगर हम लोग बात करे अभी की तो भारत अपने एक पुराने मित्र को खोते हुए नजर आ रहा है और वो देश है रूस. इसके पीछे का कारण है चीन के साथ में बढ़ रही उसकी करीबी जो आज के समय में भारत के विरोधी के तौर पर जाना जाता है.

पुतिन ने कहा, चीन है हमारा सबसे विश्वसनीय साथी
अभी हाल ही में रूस के राष्ट्रपति पुतिन जब मीडिया से बात कर रहे थे तो उनसे एक मीडिया कर्मी ने सवाल किया और पूछा कि आपको क्या लगता है रूस का सबसे अच्छा दोस्त देश आज के समय में कौन है? तो पुतिन ने बिना सोचे समझे जवाब दिया और कहा चीन. चीन हमारा सबसे अधिक विश्वसनीय मित्र देश बन चुका है.

आज के समय में चाहे विश्व में व्यापार की हालत कुछ भी हो लेकिन चीन के साथ में हमारा व्यापार दिन ब दिन बढ़ चुका है और ये 100 बिलियन डॉलर से भी अधिक का हो चुका है. ऊपर से हमें चीन के ऊपर भरोसा है कि वो कभी भी किसी तीसरे के दबाव में आकर के हमसे कभी भी गैस या फिर आयल खरीदना बंद नही करेगा. चीन को ताइवान पर कभी अटैक नही करना चाहिये.

आगे पुतिन ने ये भी कहा कि अगर चीन लगातार आर्थिक रूप से मजबूत होता रहता है तो उसे ताइवान पर फ़ोर्स यूज करने की जरूरत ही नही पड़ेगी, वहाँ के लोग खुद से ही चीन में शामिल होने की इच्छा जाहिर कर देंगे.

भारत के लिये चिंताजनक, आगे चलकर इंटरनेशनल फोरम पर सपोर्ट की आशंका कम
अभी के लिए जितनी अच्छी दोस्ती चीन और रूस के बीच हो गयी है उसके कारण से अगर कल को चीन और भारत आमने सामने होंगे तो रूस जाहिर तौर पर भारत की बजाय चीन के पाले में खड़ा होगा. हाँ अगर भारत जो रूस के साथ में चल रहा अपना व्यापार 15 बिलियन डॉलर का है उसे और अधिक बढाए तो हो सकता है स्थिति बदले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here